कमलेश तिवारी हत्याकांड: पत्नी ने कहा- मांग नहीं मानी गई तो कर लूंगी आत्मदाह

सीसीटीवी फूटेज में कुछ लोग तिवारी के ऑफिस में आते हुए दिखाई पड़े हैं. फूटेज में दोनों हत्यारों की तस्वीर मिल गई है.

हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार को उनके कार्यालय में ही गोली मारकर हत्या कर दी गई. उनके गले पर चाकू के भी निशान पाए गए हैं. कमलेश तिवारी की हत्या के बाद मामला बढ़ता ही जा रहा है. तिवारी के परिजनों ने परिवार के दो सदस्यों के लिए नौकरी की मांग की है. साथ यह भी कहा है कि जब तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वयं यहां नहीं आ जाते तब तक दाह संस्कार नहीं किया जाएगा.

तिवारी की मां का BJP नेता पर आरोप
मृतक कमलेश तिवारी की पत्नी ने कहा है कि हमारी मांग नहीं मानी गई तो मैं आत्मदाह कर लूंगी. दूसरी तरफ, कमेलश तिवारी की मां ने बीजेपी नेता पर गंभीर आरोप लगाया है. उन्होंने बताया कि राम-जानकी मंदिर को लेकर विवाद हुआ था. तिवारी की मां ने कहा कि हत्या का संबंध इससे हो सकता है.

वहीं, शुक्रवार देर रात पोस्टमॉर्टम के बाद पुलिस कमलेश तिवारी का शव उनके कार्यालय लेकर पहुंची. लेकिन वहां पर मौजूद लोगों ने काफी गुस्से का इजहार किया और पुलिस का विरोध किया.

सीतापुर लाया गया तिवारी का शव
इसके बाद पुलिस कमलेश तिवारी के शव को लेकर उनके पैतृक जिले सीतापुर के महमूदाबाद के लिए रवाना हो गई. कमलेश तिवारी का आज अंतिम संस्कार होना है. इसे देखते हुए गांव में भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है.

लखनऊ से सांसद व रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कमलेश तिवारी की हत्या को लेकर डीजीपी और डीएम से फोन पर बात की. उन्होंने बिना देर किए आरोपियों को पकड़ने के और उचित कार्रवाई करने निर्देश दिए हैं.

चुनावी दौरे से लौटने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर सख्त तेवर अपनाए. उन्होंने इस मामले में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और डीजीपी ओपी सिंह से तत्काल विस्तृत रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए.

CCTV फूटेज से हत्यारों की पहचान
सीसीटीवी फूटेज में कुछ लोग तिवारी के ऑफिस में आते हुए दिखाई पड़े हैं. फूटेज में दोनों हत्यारों की तस्वीर मिल गई है. इस फूटेज के आधार पर ही हत्यारों की तलाश की जा रही है. उधर जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा है कि हत्यारों का पता लगने के बाद उनके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी.

कमलेश तिवारी अपनी पत्नी किरन, दो बेटे ऋषि व मृदुल के साथ रहते थे, जबकि बड़ा बेटा सत्यम पैतृक गांव महमूदाबाद में रहता है. किरन ने बताया, “दो लोग पति को फोन कर घर पर मिलने आए थे. कमलेश ने इन दोनों को ऊपर कमरे में बुला लिया और चाय बनाने को कहा था. बातचीत के दौरान ही कमलेश ने बेटे मृदुल को नौकर के साथ पान मसाला लेने के लिए नीचे भेज दिया था.”

किरन ने बताया कि जब बेटा लौटा तो देखा कि कमलेश खून से लथपथ नीचे पड़े थे. फिर ड्राइवर ने उन्हें इस घटना के बारे में बताया. वह कमरे में पहुंची तो सब देखकर बदहवाश हो गईं. शोर सुनकर आस पास के लोग वहां पहुंच गए.

ये भी पढ़ें-

मिठाई के डिब्‍बे में पिस्टल-चाकू लाए, एक ने हिंदू महासभा के नेता का गला रेता, दूसरे ने मारी गोली

यूपी सरकार ने 21 लाख कर्मचारियों को दिया दिवाली तोहफा, बढ़ाया महंगाई भत्ता, एरियर भी मिलेगा

हरियाणा चुनाव: सपना चौधरी सिरसा में गोपाल कांडा के लिए करेंगी चुनाव प्रचार, BJP नाराज