लैब टेक्नीशियन मर्डर: योगी सरकार पर भड़का विपक्ष, प्रियंका गांधी बोलीं- UP में नया गुंडाराज

कानपुर के बर्रा जिले में लैब टेक्नीशियन (Lab Technician) संजीत यादव के अपहरण और हत्या मामले में विपक्षी पार्टियों ने सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा, उत्तर प्रदेश में नया जंगलराज है.   

उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक महीने पहले लैब टेक्नीशियन (Lab Technician) का अपहरण और हत्या को लेकर विपक्ष ने कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए सरकार को घेरा है. कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने ट्विटर के माध्यम से लिखा, “उप्र में कानून व्यवस्था दम तोड़ चुकी है. आम लोगों की जान लेकर अब इसकी मुनादी की जा रही है. घर हो, सड़क हो, ऑफिस हो कोई भी खुद को सुरक्षित महसूस नहीं करता. विक्रम जोशी के बाद अब कानपुर में अपहृत संजीत यादव की हत्या.

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि “पुलिस ने किडनैपर्स को पैसे भी दिलवाए और अब उनकी हत्या कर दी गई. एक नया गुंडाराज आया है. इस जंगलराज में कानून-व्यवस्था गुंडों के सामने सरेंडर कर चुकी है.”

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

वहीं समाजवादी पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा, “कानपुर से 22 जून को अपहृत युवक संजीत यादव की हत्या समूची कानून व्यवस्था की हत्या है! 1 महीने से निष्क्रिय सरकार का भ्रष्ट तंत्र सिर्फ विपक्षियों को फंसाने के लिए? अपराधियों को पकड़ने के लिए मुख्यमंत्री ने क्या रणनीति बनायी? इकलौते पुत्र को खोने वाले पीड़ित परिवार को मिले मुआवजा.”

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भी सरकार पर निशाना साधते हुए परिवार के लिए मुआवजे की मांग की है.


मायावती ने कहा, सरकार कानून-व्यवस्था को हरकत में लाएं

बीएसपी (BSP) सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने सरकार से सवाल किया हैं. उन्होंने सरकार से मांग की है कि वह अपराध-नियंत्रण व कानून-व्यवस्था के मामले में तुरंत हरकत में आए. मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट किया, “यूपी में जारी जंगलराज के दौरान एक और घटना में कानपुर में अपहरणकर्ताओं द्वारा संजीत यादव की हत्या करके शव को नदी में फेंक दिया गया जो अति-दुखद व निन्दनीय है. प्रदेश सरकार खासकर अपराध-नियंत्रण व कानून-व्यवस्था के मामले में तुरन्त हरकत में आए, बीएसपी की यह मांग है.”

गौरतलब कि कानपुर के बर्रा (Barra) से 22 जून को लैब टेक्नीशियन संजीत यादव का अपहरण फिरौती के लिए उसके दोस्त ने साथियों के साथ मिलकर किया था. 26 जून को उसकी हत्या कर लाश पांडु नदी में फेंक दी थी. बृहस्पतिवार रात पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए दोस्त कुलदीप, रामबाबू समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

30 लाख की फिरौती मांगी गई

लैब टेक्नीशियन के रिश्तेदार का दावा है कि उन्होंने अपहरणकतार्ओं को 30 लाख रुपये की फिरौती दी है. लेकिन आईजी कानपुर रेंज मोहित अग्रवाल का कहना है कि अब तक की जांच के अनुसार हमने पाया कि कोई फिरौती की राशि नहीं दी गई है, फिर भी हम सभी एंगल से मामले की जांच कर रहे हैं.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts