उज्जैन के महाकाल मंदिर में मिला था मोस्टवांटेड, 10 प्वॉइन्ट्स में जानें गिरफ्तारी से Encounter तक पूरी कहानी

कानपुर (Kanpur Encounter) में दो जुलाई की रात आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाला विकास दुबे (Vikay Dubey) उज्जैन कैसे पहुंचा और उसकी गिरफ्तारी के बाद अभी तक क्या-क्या हुआ...
kanpur encounter accused vikas dubey arrested, उज्जैन के महाकाल मंदिर में मिला था मोस्टवांटेड, 10 प्वॉइन्ट्स में जानें गिरफ्तारी से Encounter तक पूरी कहानी

कानपुर एनकाउंटर (Kanpur Encounter) के मुख्य आरोपी विकास दुबे (Vikas Dubey) अब पुलिस की गिरफ्त में है. विकास दुबे को उज्जैन (Vikas Dubey Ujjain) से गिरफ्तार किया गया है. कानपुर में दो जुलाई की रात आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाला विकास दुबे उज्जैन कैसे पहुंचा और उसकी गिरफ्तारी से लेकर एनकाउंटर तक क्या-क्या हुआ, 10 पॉइंट में समझिए.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

1. विकास दुबे की आखिरी लोकेशन फरीदाबाद थी. उसे एक होटल के सीसीटीवी कैमरे में देखा गया था. हालांकि पुलिस के पहुंचने से पहले ही वह भाग निकला. इसके बाद यूपी पुलिस नोएडा, हरियाणा, राजस्थान में विकास की तलाश कर रही थी.

2. विकास दुबे गुरुवार सुबह 250 रुपये का टिकट लेकर अपने 2 साथियों के साथ महाकाल के दर्शन करने गया था. सबसे पहले मंदिर के बाहर एक फूल वाले को इस पर शक हुआ था, जिसके बाद उसने सबसे पहले मंदिर के सिक्योरिटी गार्ड को फोन किया और बताया कि ये शख्स विकास दुबे जैसे लग रहा है.

3. इसके बाद प्राइवेट सिक्योरिटी वालों ने महाकाल चौकी में तैनात पुलिस को सूचना दी, जैसे ही वो निर्गम द्वार पर आया, तो उससे उसका नाम पूछा गया. पहले उसने अपना नाम छिपाया, लेकिन जब सख्ती से पूछा गया तब उसने बताया, “मैं विकास दुबे हूं.”

4. सिक्योरिटी वालों ने विकास को महाकाल पुलिस थाने के अधिकारियों को सौंपा.

5. उज्जैन पुलिस विकास को मंदिर से पकड़ने के बाद गाड़ी में बैठाकर ले गई. गाड़ी में बैठते हुए विकास दुबे जोर से चिल्लाया, ‘मैं विकास दुबे हूं, कानपुर वाला… इन्होंने पकड़ लिया है मुझे’’. विकास दुबे से इतना सुनते ही पुलिस ने उसे एक थप्पड़ जड़ दिया और उसकी गर्दन पकड़कर गाड़ी के अंदर डाला.

6. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की.

7. विकास दुबे से करीब 2 घंटे तक पूछताछ चली, जिसमें उसने कानपुर एनकाउंटर की कई बातों से पर्दा उठाया. साथ ही बताया कि वह एक बोलेरो गाड़ी के जरिए उज्जैन पहुंचा था.

8. इस बीच विकास की पत्नी ऋचा, उसके बेटे और नौकर को एसटीएफ ने लखनऊ में हिरासत में लिया गया.

9. शाम को करीब 7 बजे उज्जैन पुलिस ने विकास दुबे को एसटीएफ के हवाले किया. एसटीएफ सड़क के रास्ते विकास दुबे को लेकर कानपुर के लिए निकली.

10. भौति चोराहे के पास एसटीएप के काफिले की एक गाड़ी पलट गई. इस दौरान विकास दुबे ने एसटीएप के एक अधिकारी की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की. एसटीएफ और विकास दुबे के बीच मुठभेड़ हुई, जिसमें कुख्यात गैंगस्टर मारा गया.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts