यूपी उपचुनाव में कांग्रेस ने सबसे युवा उम्मीदवार पर खेला दांव, जानिए कौन हैं करिश्मा?

वह छह साल तक दिल्ली विश्वविद्यालय की राजनीति में सक्रिय रहीं. इस दौरान उन्होंने कानून की पढ़ाई पूरी की.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा उपचुनावों के लिए शुक्रवार देर शाम कांग्रेस ने पांच और सीटों पर उम्मीदवारों का एलान कर दिया. इनमें से कानपुर जिले की गोविंदनगर सीट से कांग्रेस ने एनएसयूआई नेता करिश्मा ठाकुर को मैदान में उतारा है. दिलचस्प बात ये है कि करिश्मा ठाकुर के टिकट का जब एलान हुआ तब उनकी उम्र 25 साल से दो दिन कम यानी 24 साल थी.

रविवार 15 सितंबर को वो 25 साल की हो जाएंगी जो चुनाव लड़ने की न्यूनतम उम्र होती है. 2017 में इस सीट से बीजेपी के सत्यदेव पचौरी ने जीत दर्ज की थी. वो अब कानपुर से लोकसभा चुनाव जीत कर सांसद बन चुके हैं.

करिश्मा वर्तमान में एआइसीसी (ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी) सदस्य और राष्ट्रीय छात्र संगठन (एनएसयूआई) की राष्ट्रीय महासचिव हैं. शहर के सेंट मैरी कानवेंट से इंटर की परीक्षा पास करने के बाद करिश्मा ने वर्ष 2103 में दिल्ली यूनिवर्सिटी के लक्ष्मीबाई कालेज में दाखिला लिया. यहीं से उनके राजनीतिक करियर का शुभारंभ हुआ. एनएसयूआइ से जुडऩे के बाद प्रथम वर्ष में ही उन्होंने दिल्ली छात्रसंघ का चुनाव लड़ा और पहली बार में अच्छे वोटों से जीत हासिल कर महासचिव बनीं.

वह छह साल तक दिल्ली विश्वविद्यालय की राजनीति में सक्रिय रहीं. इस दौरान उन्होंने कानून की पढ़ाई पूरी की. छात्र राजनीति के बाद मुख्यधारा की राजनीति में यह उनका पहला कदम है.

करिश्मा को जन्म से ही राजनीतिक माहौल मिला. उनके पिता राजेश सिंह क्राइस्ट चर्च डिग्री कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष रहे. इसके बाद उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर सरसौल विधानसभा और बसपा के टिकट पर कन्नौज सीट से लोकसभा का भी चुनाव लड़ा.

वहीं करिश्मा ने टिकट मिलने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मैं पार्टी और प्रियंका गांधी के विश्वास पर खरा उतरने की कोशिश करूंगी. पार्टी ने युवा और महिला को टिकट दिया है. वर्तमान सरकार की नीतियों के कारण सबसे ज्यादा युवा और महिलाएं ही परेशान हैं. यह चुनाव न तो सरकार बनाने के लिए है न गिराने के लिए.

इस चुनाव में जनता अपना विधायक चुनेगी और वह अपने बीच के व्यक्ति को प्राथमिकता देगी. बता दें कि शनिवार को प्रियंका गांधी ने दिल्ली में बैठक बुलाई है, जहां पर आगे की रणनीति तय होगी.

जीवन परिचय
2012 में सेंट मैरी कांवेंट से इंटर की पढ़ाई पूरी की.
2013 में दिल्ली छात्रसंघ की महासचिव बनीं.
2016 में लक्ष्मीबाई कॉलेज दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीए ऑनर्स पूरा किया.
2017 में एनएसयूआइ की राष्ट्रीय महासचिव बनीं.
2019 दिल्ली यूनिवर्सिटी से एलएलबी की पढ़ाई पूरी की.