14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजी गई चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली लड़की, उगाही का आरोप

पीड़िता पर अपने दोस्तों के साथ मिलकर चिन्मयानंद से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने का आरोप लगा है.

पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद पर रेप और यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लॉ छात्रा को स्थानीय कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. इससे पहले स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) ने आज सुबह लड़की को गिरफ्तार किया था. गिरफ्तारी के बाद उसे मेडिकल के लिए ले जाया गया था.

पीड़िता पर अपने दोस्तों के साथ मिलकर चिन्मयानंद से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने का आरोप लगा है. एसआईटी ने पिछले हफ्ते इस मामले में पीड़िता के तीन दोस्तों संजय, विक्रम और सचिन को हिरासत में लिया था.

बेल याचिका में पाई गईं खामियां
चिन्मयानंद के वकील महेंद्र सिंह ने बताया कि ‘लॉ छात्रा के वकील की ओर से बेल याचिका दायर की गई थी जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया. क्योंकि याचिका में कुछ खामियां पाई गई थीं. अगर बेल याचिका पर दोबारा सुनवाई हुई तो दोपहर 1 बजे हो सकती है.’

यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने गिरफ्तारी पर कहा कि ‘स्पेशल इनवेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) ने स्वामी चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली कानून की छात्रा को उनसे पैसे मांगने की कोशिश करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है.’

उगाही से जुड़ा वीडियो आया था सामने
कुछ दिनों पहले ही उगाही करने का एक वीडियो सामने आया था. जिसके बाद छात्रा और उसके तीन साथियों पर पुलिस ने उगाही करने काम मामला दर्ज किया था.

पांच करोड़ की उगाही के मामले में जेल में बंद सचिन उर्फ सोनू और विक्रम सिंह को एसआईटी ने मंगलवार को रिमांड पर लिया था. जेल से निकलने के बाद दोनों का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया. इसके बाद एसआईटी दोनों को लेकर पुलिस लाइन स्थित कैंप कार्यालय लेकर गई.

इससे पहले छात्रा ने सोमवार को अपनी गिरफ्तारी पर रोक लगाने को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट में अर्जी दायर की थी. कोर्ट ने इसे खारिज करते हुए निचली अदालत में अर्जी करने का आदेश दिया था.

ये भी पढ़ें-

अनुच्छेद 370 ने आतंकवाद को दिया बढ़ावा, PAK ने खड़ी कर दी आतंकी की फैक्ट्री: एस जयशंकर

महाराष्‍ट्र बैंक घोटाला: 25 हजार करोड़ के केस में शरद पवार और भतीजे अजित पर FIR

आतंकवादियों के निशाने पर PM मोदी, शाह और डोभाल, 30 शहरों में भी आतंकी हमले की धमकी