आजम खान की अमर सिंह और जया प्रदा से क्या है दुश्मनी? जानता है सिर्फ ये एक आदमी

रामपुर से 10 साल सांसद रहीं जया प्रदा एक बार फिर वहीं से उम्मीदवार हैं. लेकिन इस बार पार्टी सपा नहीं, भाजपा है. वो सपा में भी थीं तो एक आदमी हमेशा उनके खिलाफ रहा. आजम खान. आजम खान की घटिया बयानबाजी से एक बार फिर रंजिश के घाव खुल गए हैं.

मजबूरी का नाम महात्मा गांधी बाकी देश के लिए होगा, समाजवादी पार्टी के लिए मजबूरी का नाम आजम खान है. तभी तो मुलायम सिंह यादव के रहते हुए भी घटिया बयानबाजी करते रहे, पार्टी में बने रहे. अब अखिलेश पार्टी के मुखिया हैं. अब भी आजम घटिया बयान दे रहे हैं और अखिलेश यादव उनको डिफेंड कर रहे हैं. लेकिन इस झगड़े में मुलायम-अखिलेश साइड आर्टिस्ट्स हैं. लीड रोल तीन लोगों का है. अमर सिंह, आजम खान और जया प्रदा. TV9 भारतवर्ष से बात करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि उनकी पार्टी में महिलाओं की सबसे ज्यादा भागीदारी है. लेकिन जया प्रदा पर लंबे समय से महिला विरोधी भद्दी बातें बोलने वाले आजम खान भी उसी पार्टी में हैं.

अमर-आजम की दुश्मनी पर बात करने से पहले अमर सिंह की बातें जान लेते हैं, जो उन्होंने TV9 भारतवर्ष से कहीं.

  • आजम खान की औकात नहीं है कि वो हमारी चड्डी के बारे में बात करें.
  • आजम खान राक्षस हैं. वो कोई हमारे गुरु नहीं हैं.
  • अखिलेश को मैंने पैदा नहीं किया बस. बाकी उनको पढ़ाया मैंने. इस लायक बनाया कि वो आज बड़ी बड़ी बातें बोल रहे हैं.
  • आजम खान को इस बात से चिढ़ है कि मैं हिंदू क्यों हूं. मैं लंगर क्यों चलाता हूं. गौशाला क्यों जाता हूं. तुष्टीकरण की राजनीति को खाद पानी क्यों नहीं देता.
  • जया प्रदा मेरी छाया ही तो हैं. रामपुर में एक एक आदमी अमर सिंह के रूप में जया प्रदा के साथ खड़ा है. मैं वहां यत्र तत्र सर्वत्र हूं.

अमर सिंह और जया प्रदा का रिश्ता

Jaya prada, आजम खान की अमर सिंह और जया प्रदा से क्या है दुश्मनी? जानता है सिर्फ ये एक आदमी

जया प्रदा को समाजवादी पार्टी में अमर सिंह लेकर आए. वो अमर सिंह को अपना राजनैतिक गुरु और दोस्त मानती हैं. जया प्रदा ने एक बार कहा था कि “मैं अमर सिंह को अपना गॉडफादर मानती हूं. मैं उन्हें राखी भी बांध दूं तब भी लोग मेरे-उनके बारे में बातें बनाना बंद नहीं करेंगे.” पब्लिक डोमैन में जया प्रदा की तरफ से इस रिश्ते पर इतना ही कहा गया है. अब अपने लेटेस्ट स्टेटमेंट में अमर सिंह ने जया प्रदा को अपनी छाया बताया है. दोनों के रिश्ते के बारे में इससे ज्यादा कोई जानता नहीं है और किसी को इसमें दिलचस्पी भी नहीं लेनी चाहिए.

जया प्रदा और आजम खान का रिश्ता

Jaya prada, आजम खान की अमर सिंह और जया प्रदा से क्या है दुश्मनी? जानता है सिर्फ ये एक आदमी

2004 में जया प्रदा रामपुर से लोकसभा चुनाव लड़ीं और जीतीं. उसके बाद लगातार 10 साल वहां सांसद रहीं. (अपने खाकी अंडरवियर वाले बयान में जिन 10 सालों का जिक्र किया था वो यही थे) तभी से आजम खान की बातें जया प्रदा को लेकर छिछली ही रहीं. शुरुआत की ‘नाचने गाने वाली’ कहकर. 2009 में जया प्रदा ने आजम खान पर अपनी अश्लील तस्वीरें बांटने का आरोप लगाया. जया प्रदा ने कहा था “अमर सिंह डायलिसिस पर थे. मेरे साथ उनकी तस्वीरों को गलत तरीके से फैलाया गया. मैं रोती रही और कहती रही कि मुझे नहीं जीना है. मैं सुसाइड करना चाहती थी. अमर सिंह डायलिसिस से लौटे और मेरे साथ खड़े हुए.” आजम खान के विरोध के बावजूद जया प्रदा जीतीं और अमर सिंह के दबाव में आजम खान को 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया गया. तब भी मुलायम ने बड़ा कलेजा किया था, क्योंकि हालात तब अमर सिंह के पक्ष में थे.

पिछले साल जब MeToo मुहिम चल रही थी तो जया प्रदा के नाम के सहारे अमर सिंह ने आजम खान पर इल्जाम लगाया था. कहा था कि “अगर जया प्रदा भी मी टू कह दें तो आजम खान को जेल जाना पड़ सकता है. ”

मन की बात मुलायम जानें

Jaya prada, आजम खान की अमर सिंह और जया प्रदा से क्या है दुश्मनी? जानता है सिर्फ ये एक आदमी

जया प्रदा को अमर सिंह जिस कॉन्फिडेंस से अपनी छाया बता रहे हैं उससे दोनों के रिश्ते की मजबूती पता चलती है. आजम खान जया प्रदा को गाली देने का कोई मौका नहीं छोड़ते इससे दोनों के रिश्ते की तल्खी पता चलती है. ये तल्खी कहां से आई इसके बारे में सिर्फ एक शख्स अच्छे से जानता है. वो हैं मुलायम सिंह यादव. मुलायम सिंह यादव ने जिंदगी भर अपने घर में इतने झगड़े देखे हैं कि उनका झगड़ों पर बात करने का मन ही नहीं होता होगा. भाई शिवपाल से झगड़ा, बेटे अखिलेश से झगड़ा, घर के बाहर ‘बहन जी’ मायावती से झगड़ा. इतने सारे झगड़ों के साक्षी रहे. लगता नहीं कि अब वो कभी अमर सिंह और आजम खान के बीच का लव हेट रिलेशनशिप स्टेटस सार्वजनिक करेंगे.

बहरहाल किसी के बीच में कैसा भी रिश्ता हो, महिला विरोधी टिप्पणी पर पार्टी को एक्शन जरूर लेना चाहिए. आजम खान तो ‘लड़के भी नहीं हैं, जिनसे गलती हो जाती है.’

ये भी पढ़ें:

आजम खां पर कार्रवाई के सवाल पर बोले अमर सिंह- जब बाप मुलायम में दम नहीं था तो अखिलेश क्या करेंगे