यूपी: मंदिरों-मस्जिदों के लाउडस्पीकरों से होगा बिजली बकायों और सरकारी योजनाओं का ऐलान

किसानों के लिए आसान किस्तों में ट्यूबवेल योजना के अलावा चल रही स्कीमों के बारे में जानकारी देने के लिए विभाग इसका इस्तेमाल करना चाहता है.
loudspeakers in temple mosque, यूपी: मंदिरों-मस्जिदों के लाउडस्पीकरों से होगा बिजली बकायों और सरकारी योजनाओं का ऐलान

उत्तर प्रदेश के पश्चिमी जिलों में बिजली के बकाया भुगतानों और नई योजनाओं को बताने के लिए मंदिर-मस्जिद में लगे लाउडस्पीकरों का उपयोग किया जाएगा. पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (पीवीवीएनएल) ने इसकी योजना बनाई है.

किसानों के लिए आसान किस्तों में ट्यूबवेल योजना के अलावा चल रही स्कीमों के बारे में जानकारी देने के लिए विभाग इसका इस्तेमाल करना चाह रहा है. विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, इसके लिए शुरुआती तौर पर 14 जिले चुने गए हैं.

पीवीवीएनएल के अधिकार क्षेत्र में आने वाले पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 14 जिलों में मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, बुलंदशहर, हापुड़, गौतम बुद्घ नगर, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, मुरादाबाद, संभल, अमरोहा, रामपुर और बिजनौर हैं.

निगम के प्रबंध निदेशक अरविंद मल्लप्पा बंगारी ने बताया, “पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 14 जिलों में बिजली बिलों के भुगतान के लिए मंदिर और मस्जिदों से अपील की जाएगी. लाउडस्पीकरों का प्रयोग करने से इसका संदेश लोगों के बीच तेजी से पहुंचेगा. जिससे योजना का लाभ सभी लोग आसानी से उठा सकते हैं.”

उन्होंने बताया कि आसान किस्त योजना के तहत लोगों से बिजली बिलों की वसूली के लिए गांव-गांव में कैंप लगाए जाएंगे और लोगों को प्रेरित किया जाएगा. जन सुविधा केन्द्रों पर अधिक से अधिक कैंप लगवाए जाएंगे.

पीवीवीएनएल के एमडी ने कहा कि ‘मेरठ के एक गांव में स्कीम के प्रचार के लिए एक कैंप में जाने पर मैंने पाया कि अधिकतम रजिस्ट्रेशन के लिए स्कीम का विज्ञापन बहुत बेहतर नहीं था. इसलिए मैंने योजना को मैक्सिमम लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रत्येक संभावित साधनों का उपयोग करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया.’

उन्होंने कहा कि ढोल, पोस्टर और मस्जिद या मंदिर जैसे धार्मिक स्थानों पर लाउडस्पीकरों पर घोषणाएं कराकर स्कीम का प्रचार किया जाएगा. स्कीम के बारे में जानकारी अंतिम व्यक्ति तक पहुंचनी चाहिए.

ये भी पढ़ें-

रविदास जयंती पर वाराणसी पहुंचीं कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी, मायावती ने बताया दिखावा

वेलेंटाइन डे पर पुराने प्यार BJP के साथ हो सकता है मरांडी और JVM का मिलन

Related Posts