मॉब लिंचिंग में मारे गए अखलाक के परिवार का वोटिंग लिस्ट से नाम गायब

गोमांस रखने की अफवाह की वजह से लोगों ने 2015 में अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी.
akhlaq family names missing voter list, मॉब लिंचिंग में मारे गए अखलाक के परिवार का वोटिंग लिस्ट से नाम गायब

नई दिल्ली: 2015 में मॉब लिंचिंग का शिकार हुए- मोहम्मद अखलाक के परिवार का नाम वोटर लिस्ट से गायब है. वोटिंग लिस्ट में परिवार के सदस्यों का नाम नहीं होने की जानकारी उस समय सामने आई जब परिवार के लोग वोट डालने मतदान केन्द्र पर पहुंचे. परिवार के सदस्यों के नाम वोटर लिस्ट में शामिल नहीं थे.

लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण की 91 सीटों पर मतदान हो रहा है. पहले चरण की वोटिंग में उत्तर प्रदेश की 8 लोकसभा सीटों पर भी वोटिंग हो रही है. इसमें गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट भी शामिल है. दादरी के बिसहड़ा गांव में रहने वाले अखलाक के पूरे परिवार का नाम वोटर लिस्ट में नहीं है. ये इलाका गौतमबुद्धनगर लोकसभा सीट के अंतर्गत आता है.
इस संबंध में गौतमबुद्धनगर के ब्लॉक स्तर के अधिकारियों ने बताया है कि पिछले कई महीनों से अखलाक के घर में कोई भी सदस्य बिसहड़ा गांव में नहीं रह रहा था. इसी वजह से वोटर लिस्ट में उनका नाम नहीं है.

गौरतलब है कि गोमांस रखने की अफवाह की वजह से लोगों ने अखलाक की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. इस घटना में अखलाक के बेटे को भी गंभीर चोटें आई थी. जिसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए जांच के आदेश दिए थे.

अखलाक हत्याकांड में उत्तर प्रदेश पुलिस ने कहा था कि हत्या बीफ की अफवाह के चलते की गई थी. जिसके मुख्य आरोपी विशाल और शिवम नाम के दो व्यक्ति हैं.

ये भी पढ़ें- सीएम योगी की रैली में दिखा जमानत में रिहा अखलाक कांड का आरोपी, लगा रहा था नारे

ये भी पढ़ें- आंध्र प्रदेश में चुनावी हिंसा, दो की मौत, विधानसभा अध्यक्ष पर भी हुआ हमला

 

Related Posts