BSP सुप्रीमो Mayawati भाई पर कार्रवाई से तिलमिलाईं, BJP को बताया दलित विरोधी

मायावती ने कहा कि बीजेपी को वंचितों के आगे बढ़ने से तकलीफ होती है.

नई दिल्ली: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर जमकर निशाना साधा है. मायावती ने अपने भाई और पार्टी उपाध्यक्ष आनंद कुमार पर आयकर विभाग की छापेमारी को राजनीति से प्रेरित बताया है. मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि भाजपा उनके खिलाफ साजिश कर रही है.

मायावती ने कहा, “बीजेपी को वंचितों के आगे बढ़ने से तकलीफ होती है. बीजेपी को अपनी ओर भी झांककर देखना चाहिए. चुनाव के दौरान 2000 करोड़ से ज्यादा बीजेपी के खाते में आए लेकिन इसका अब तक खुलासा नहीं हुआ. इसकी भी जांच होनी चाहिए.”

‘अरबों रुपये की संपत्ति से पार्टी दफ्तर खरीदा’
मायावती ने कहा, “मैं पूछना चाहती हूं कि जब से बीजेपी सत्ता में आई है तब से पूरे देश में अरबों रुपये की संपत्ति पार्टी दफ्तर के लिए खरीदी है. यह पैसा कहां से आया है. क्या यह बेनामी संपत्ति नहीं है? इसका भी खुलासा होना चाहिए.”

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि दलित, आदिवासी आदि को इनसे घबराना नहीं चाहिए. अगर किसी के साथ भी ज्यादती होगी तो हमारी पार्टी पीछे नहीं हटेगी और उन्हें इंसाफ दिलाएगी.

मायावती ने कहा, “बीजेपी नेता राजनीति में आने से पहले और अब की मौजूदा संपत्ति का आंकड़ा दें. मोदी-शाह की कंपनी से मेरा सवाल कि दफ्तर बनाने के लिए अरबों-खरबों रुपये कहां से आए, क्या ये बेनामी नहीं? बीजेपी ने वोट खरीद कर और ईवीएम के इस्तेमाल से सत्ता हासिल की है.”

मायावती ने कहा, “हम तो खुली किताब हैं. मैं बीजेपी और आरएसएस के लोगों को खुली चेतावनी देती हूं कि चाहे कितने भी हथकंडे अपना लो बीएसपी डरने वाली नहीं है, पीछे हटने वाली नहीं है बल्कि डटकर सामना करने वाली है.”

IT ने 400 करोड़ की बेनामी संपत्ति कुर्क की
बता दें कि आयकर विभाग ने मायावती के भाई तथा उनकी पत्नी की नोएडा में 400 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति कुर्क की थी. आईटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आनंद कुमार और उनकी पत्नी की संपत्ति 2007 से 2012 के बीच तेजी से बढ़ी थी. मायावती इस दौरान उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री थीं.

अधिकारी ने कहा कि पार्टी में छोटा पद संभाल रहे आनंद कुमार एक उद्योगपति हैं और वे उत्तर प्रदेश में 2017 में हुए विधानसभा चुनावों से पहले उनकी नजर में थे. विधानसभा चुनावों के बाद प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी थी

आनंद कुमार और उनकी पत्नी की कुल संपत्ति लगभग 1,300 करोड़ रुपये की है. अधिकारी ने खुलासा किया कि आनंद कुमार लगभग 12 कंपनियों के मालिक हैं और उनके पास लगभग 440 करोड़ रुपये की नकदी और 870 करोड़ रुपये की संपत्ति हैं.

ये भी पढ़ें-

इमरान का झूठ बेनकाब, बताया अरेस्ट लेकिन ऐश कर रहा भारत का गुनहगार हाफिज सईद

कुलभूषण जाधव को मिलेगी काउंसलर एक्सेस, ICJ के आदेश के आगे झुका पाकिस्तान

अतीक अहमद के घर पर CBI का छापा, जब्त किया गया इतना कैश