बाहुबली मुख्‍तार अंसारी को सता रहा जेल में हत्‍या का डर, अर्जी पर कोर्ट ने दिलवाई सुरक्षा

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी बांदा की जेल में 30 मार्च 2017 से बंद हैं.

लखनऊ: पूर्वांचल के बाहुबली नेता मुख्‍तार अंसारी को जेल में हत्‍या का डर सता रहा है. उत्‍तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद अंसारी ने अदालत में अर्जी लगाकर सुरक्षा मांगी थी. अदालत ने पुलिस से अंसारी को पर्याप्‍त सुरक्षा मुहैया कराने का आदेश दिया है. अंसारी ने स्‍पेशल टास्‍क फोर्स (STF) और कई अन्‍य लोगों पर हत्‍या की साजिश का आरोप लगाया है.

अंसारी के सहयोगी डॉन मुन्‍ना बजरंगी ने भी ऐसी ही आशंका जाहिर की थी. उसकी पत्‍नी ने मीडिया के सामने आकर कहा था कि कुछ अपराधी एसटीएफ के एक अधिकारी के साथ मिलकर मुन्‍ना की हत्‍या की साजिश रच रहे हैं. पिछले साल जुलाई में बागपत जेल के भीतर उसकी हत्‍या कर दी गई थी.

अंसारी को जेल में पड़ चुका है दिल का दौरा

बजरंगी की हत्‍या के बाद अंसारी की सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी गई थी. तब सीसीटीवी कैमरों के जरिए 24 घंटे बंदियों की हरकतों पर नजर रखी जाती थी. अंसारी के बैरक में किसी भी बंदी रक्षक को जाने की इजाजत नहीं थी.

पूर्वांचल का माफिया डॉन और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी बांदा की जेल में 30 मार्च 2017 से बंद हैं. यहां उन्हें दिल का दौरा भी पड़ चुका है जिस पर उनके भाई ने जेल प्रशासन पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया था.

ये भी पढ़ें

बाहुबली अतीक अहमद ने छोड़ा मैदान, पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी से थे निर्दलीय उम्मीदवार

Video: जब लंबी-लंबी फेंकने लगे निरहुआ, दंग रह गए जर्नलिस्‍ट्स