राम जन्मभूमि न्यास कार्यशाला में मुस्लिमों ने किया कार सेवा का आगाज

रामलला के सम्मान में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने कार्यशाला में गगनभेदी नारों के उद्घोष के साथ पत्थरों की सफाई की.

नई दिल्ली: अयोध्या में मुस्लिम समाज के लोगों ने राम जन्मभूमि न्यास कार्यशाला में कार सेवा का बिस्मिल्लाह किया. सुप्रीम कोर्ट में 6 अगस्त से प्रति दिन सुनवाई आरंभ शुरू हो गयी है राम मंदिर को लेकर राम भक्तों में और राम मंदिर समर्थकों में अब एक अलख सी जग गई है, जिसको लेकर वह काफी उत्साहित दिख रहे हैं. राम मंदिर समर्थक बबलू ख़ान अपने दर्ज़नों मुस्लिम समर्थकों के साथ मंगलवार राम जन्मभूमि न्यास के कार्यशाला पहुंचे और वहां पर पत्थरों पर लगी काइयों को अपने समर्थकों के साथ साफ किया.

बबलू ख़ान ने कहा हमें उम्मीद है कि अतिशीघ्र राम मंदिर के पक्ष में फ़ैसला आएगा और राम मंदिर का निर्माण होगा. राम मंदिर निर्माण में पत्थरों पर लगी काई से बाधा उत्पन्न हो सकती है इसलिए हम लोग पत्थरों की काई को साफ करने के लिए कार सेवा जारी रखेंगे.

कार्यशाला में मुस्लिम समर्थकों के साथ अयोध्या के संत समाज के लोग भी दिखे. रामलला के सम्मान में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने कार्यशाला में गगनभेदी नारों के उद्घोष के साथ पत्थरों की सफाई की.

वहीं विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी ने मुस्लिम समाज द्वारा उठाए गए इस क़दम का स्वागत करते हुए कहा कि इन पत्थरों पर की गई नक़्क़ाशी बहुत ही बारीकी से की गई है और इसमें काफी लंबा समय लगा है. इस कार्य को पूरा करने के लिए प्रशिक्षित महिला मजदूर आएंगी जिनसे बातचीत की जा रही है. वह जल्द ही कार्यशाला पहुंचेगी और वहां पहुंचकर राम मंदिर के लिए रखे पत्थरों की साफ सफाई का कार्य संभालेंगी.

वहीं संत समाज के लोगों ने भी इस पहल का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि इससे पूरे देश में सकारात्मक संदेश जाएगा. राम मंदिर के लिए अब मुस्लिम समाज के लोग भी हमारे साथ हैं. अब वह दिन दूर नहीं जब जल्द राम मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा. अयोध्या में राम मंदिर का विरोध करने वाले लोग राजनीतिक रोटियां सेक रहे हैं जब भी राम मंदिर का निर्माण होगा तो मुस्लिम समाज के लोग उसमें बढ़-चढ़कर योगदान देंगे.