कांग्रेस का नया दौर: प्रियंका गांधी ने सोनभद्र में जमीनी कार्यकर्ता को बनाया जिला अध्यक्ष

रामराज सोनभद्र नरसंहार के बाद प्रियंका गांधी को चुनार किले में पीड़ितों के परिवार के साथ मिले थे. वहीं प्रियंका गांधी की नजर उनपर पड़ी प्रियंका और आज उन्हें जिले की कमान सौंपी दी गई है.

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने पार्टी के नए जिला अध्यक्ष नियुक्ति किए हैं. सोनभद्र जिले की कमान, उम्भा आदिवासी आंदोलन का हिस्सा रहे रामराज गोंड़ को सौंपी गई है. रामराज सोनभद्र नरसंहार के बाद प्रियंका गांधी को चुनार किले में पीड़ितों के परिवार के साथ मिले थे. वहीं प्रियंका गांधी की नजर उनपर पड़ी प्रियंका और आज उन्हें जिले की कमान सौंपी दी गई है.

रामराज के पिता उम्भा गांव के प्रधान और कांग्रेस के ब्लॉक समिति से जुड़े हुए हैं. रामराज गोंड एक आदिवासी समुदाय से आते हैं, जिन्होंने बीए तक पढ़ाई की है और काफी लंबे समय से आदिवासी समाज के लोगों के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं.

हाल ही में सोनभद्र का उम्भा गांव चर्चा में आया था. सोनभद्र नरसंहार के समय, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उम्भा गांव जाना चाह रही थीं. तब पुलिस उनको गिरफ्तार कर के चुनार किले ले गईं जहां उनको नजरबंद कर दिया गया था. सूत्रों के मुताबिक, यहीं प्रियंका गांधी की नजर रामराज गोंड पर पड़ी थी.

दरअसल रामराज गोंड़ पीड़ित परिवारों के साथ प्रियंका गांधी को चुनार किले मिलने पहुंचे थे. कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, “यहीं चुनार के किले में रामराज की प्रियंका जी से बात हुई और अब उनको ये जिम्मेदारी दी गई है.”

उत्तर प्रदेश में, सोनभद्र सबसे ज्यादा आदिवासी आबादी वाला जिला है. रामराज के पिता बहादुर गोंड़ उम्भा गांव के प्रधान हैं और उनका कांग्रेस से भी पुराना रिश्ता रहा है. उनका कहना है, “प्रियंका जी की इस बात से साफ है अब जमीन से जुड़े लोगों को संघठन में अहम भूमिका दी जाएगी. जमीन पर उतर कर जो काम करेगा उसको ही, पार्टी में पद मिलेगा.”

ये भी पढ़ें: पार्टी में नई जान फूंकने के लिए कांग्रेस उत्तर प्रदेश में लगाएगी तीन दिवसीय ट्रेनिंग कैंप