212 रुपये पर लगाया 12 हजार का ब्याज, कोर्ट ने बैंक पर ठोंका 72 हजार का जुर्माना

पीड़ित बुजुर्ग ने जब गलत बिल का भुगतान करने से मना किया तो उन्हें धमकियां भी दी गईं.

नोएडा. ICICI बैंक के क्रेडिट कार्ड का भुगतान करते हुए एक शख्स 212 रुपये देना भूल क्या गया कि बैंक ने उसपर करीब 12 हजार रुपये का ब्याज लगा दिया. पीड़ित बुजुर्ग ने पहले तो बैंक के चक्कर काटे, फिर जब उनकी सुनी नहीं गई तो उन्होंने उपभोक्ता फोरम में बैंक की शिकायत दर्ज कराई. 18 महीने बाद करवाई करते हुए उपभोक्ता फोरम ने बैंक को आदेश दिया कि बुजुर्ग को मानसिक उत्पीड़न और खर्च के तौर पर 72 हजार रुपये का भुगतान किया जाए.

बुजुर्ग ने जब गलत बिल का भुगतान करने से मना किया तो उन्हें धमकियां भी दी गईं. पीड़ित देवेंद्र कुमार नोएडा सेक्टर 27 के रहने वाले हैं और उनका खाता सेक्टर 18 के आईसीआईसीआई (ICICI) बैंक का है. बैंक की तरफ से उन्हें 75 हजार की लिमिट वाला क्रेडिट कार्ड दिया गया था.

देवेंद्र ने जानकारी दी कि बैंक ने मार्च 2016 का क्रेडिट कार्ड बिल 45, 412 रुपये का भेजा था. जिसमें उन्होंने 45, 200 का भुगतान कर दिया था. 212 रुपये का भुगतान करना वह भूल गए और बैंक ने 2 महीने बाद उसपर 2667 रुपये का ब्याज लगा दिया. पीड़ित ने इसका विरोध किया तो उनको और उनके परिवार वालों को मेसेज करके परेशान किया जाने लगा. एक साल तीन महीने के बाद इसपर कुल 11, 632 रुपये का बिल बताकर कार्ड भी बंद कर दिया गया. बैंक की धमकियों से परेशान होकर देवेंद्र ने मार्च 2018 में उपभोक्ता फोरम में शिकायत दर्ज कराई. इसपर बैंक को फटकार लगाते हुए उपभोक्ता फोरम ने देवेंद्र को 51 हजार रुपये मानसिक उत्पीड़न और 21 हजार रुपये खर्च देने का आदेश दिया.

बैंक प्रतिनिधियों से बात करने पर जानकारी मिली कि पूरे बिल पर 36 प्रतिशत का ब्याज लगाया गया था.

ये भी पढ़ें: कर्नाटक संकट LIVE: “BJP नेताओं ने आज ही फ्लोर टेस्ट कराने की गुजारिश की है”, स्पीकर का बड़ा बयान

ये भी पढ़ें: “भाजपाई दुकानदारों से सामान लेना बंद कर दो, उनकी तबीयत सुधर जाएगी”