जिंदगी-मौत से जूझ रही हापुड़ गैंगरेप पीड़िता, पुलिस अधिकारी ने कहा- रेप कह देने से रेप नहीं हो जाता

कुछ दिनों पहले एक वीडियो वायरल हुआ था. इसमें युवती आग की चपेट में आकर बुरी तरह झुलसी हुई नजर आ रही है. इसमें वह बता रही है कि उसके गांव के गांव के युवकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया.

लखनऊ: सूबे के हापुड़ गैंगरेप मामले में डिप्टी एसपी का बयान सामने आया है. डिप्टी एसपी ने कहा है कि कह देने मात्र से कोई रेप नहीं हो जाता है. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. जांच के बाद ही किसी को गिरफ्तार किया जाएगा. गौरतलब है कि मामला तीन साल पहले का है. तीन साल तक पीड़िता उच्चाधिकारियों से लेकर महिला आयोग तक न्याय के लिए दरवाजे खटखटाती रही. अंत में जब उसकी कहीं सुनवाई नहीं हुई तो उसने खुद को आग लगा ली.

हापुड़ डिप्टी एसपी ने कहा, “एफआईआर हो गई है. एविडेन्स कलेक्शन चल रहा है. जबरदस्ती गिरफ्तारी नहीं हो सकती है. रेप लगा देने से रेप नहीं हो जाता है. इन्होंने 10 पेज का गोलमोल बयान दिया है. इसमें कुछ भी स्पष्ट नहीं है. 2015 में मेरे साथ इन्होंने ये किया, 2016 में ये किया, इसका कोई प्रूफ भी तो होना चाहिए. आज कई गांव के लोगों ने वहां इकट्ठे होकर जाम लगा दिया था. गांव वालों का कहना था कि एक महिला से हम लोग त्रस्त हैं, उन्होंने पहले भी इस तरह की शिकायत की थी.”

ऐसा था मामला
मामला थाना सिंभावली क्षेत्र का है. आरोप है कि युवती के पिता और चाची ने मिलकर पीड़िता को गांव निवासी एक व्यक्ति को 10 हजार रुपये में बेच दिया था. आरोपी ने कई लोगों से पैसे उधार ले रखे थे, इसलिए वह पीड़िता को घरों में काम करने के लिए भेजता था. इस दौरान आरोपी ने अपने चार साथियों के साथ मिलकर उसके साथ गैंगरेप किया. इसको लेकर पीड़िता ने स्थानीय पुलिस और हापुड़ के एसपी से शिकायत की थी, लेकिन एफआईआर तक लिखने से मना कर दिया गया.

तीन साल पहले की घटना
गैंगरेप की ये घटना 2016-17 में हुई. पीड़िता न्याय के लिए उच्चाधिकारियों के दरवाजे तक गई लेकिन हर जगह से उसे निराशा ही हाथ लगी. न्याय न मिलने पर 28 अप्रैल को हारकर उसने आत्मदाह का प्रयास किया. हालत को गंभीर देखते हुए उसे दिल्ली रेफर कर दिया गया. यहां महिला आयोग की अध्यक्ष को पीड़िता ने आपबीती बताई.

ये भी पढ़ें- घाटी में 3 साल की बच्‍ची से रेप के बाद प्रदर्शन तेज, महबूबा बोलीं- दोषी को पत्‍थर मार दें मौत

वीडिया हुआ वायरल
कुछ दिनों पहले एक वीडियो वायरल हुआ था. इसमें युवती आग की चपेट में आकर बुरी तरह झुलसी हुई नजर आ रही है. इसमें वह बता रही है कि उसके गांव के गांव के युवकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया. उसका अश्लील विडियो बनाकर आरोपियों ने उसे प्रताड़ित किया.