यूपी: बिजली बिल न चुकाने पर जेल में बंद था शख्स, अचानक तबीयत बिगड़ने से हुई मौत

तहसील प्रशासन की टीम 23 सितंबर को बृजपाल को पकड़कर लाई और हवालात में बंद कर दिया था.
Badaun jail, यूपी: बिजली बिल न चुकाने पर जेल में बंद था शख्स, अचानक तबीयत बिगड़ने से हुई मौत

यूपी के बदायूं जिले के सहसवान तहसील की जेल में गुरुवार को एक कैदी की तबीयत अचानक खराब हो गई. कैदी को जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. 11 दिन पहले ही इस शख्स को जेल में डाला गया था. शख्स पर आरोप था कि उसने 81 हजार 947 रुपये का बिजली बिल नहीं चुकाया है.

81 हजार 947 रुपये था बिजली बिल का जुर्माना
बृजपाल नाम का यह 40 वर्षीय शख्स तहसील क्षेत्र के जरीफनगर गांव का रहने वाला था. बृजपाल पर तीन नवंबर 2018 को 81 हजार 947 रुपये का जुर्माना लगाया गया. जुर्माना की रकम अदा न करने पर आरसी जारी हुई थी. तहसील प्रशासन की टीम 23 सितंबर को उसे पकड़कर लाई और हवालात में बंद कर दिया था.

बृजपाल गुरुवार सुबह वह अन्य कैदियों के साथ मंजन कर रहा था. इसी दैरान अचानक उसकी तबीयत बहुत खराब हो गई. खांसी और पसीना आने के साथ ही घबराहट होने लगी. इस पर कैदियों ने शोर मचाना शुरू कर दिया. इसके तहसील स्टाफ और पुलिसकर्मी हवालात के पास पहुंचे.

ईंट से तोड़ा गया हवालात का ताला
रिपोर्ट के मुताबिक, हवालात की चाबी उस समय गुम हो गई थी. इस पर ईंट से ताला तोड़कर उसे बाहर निकाला गया. कर्मचारी पहले उसे सीएचसी ले गए, लेकिन हालत गंभीर होने चलते जिला अस्पताल रेफर किया गया. यहां पर डॉक्टर ने उसे कुछ समय बाद मृत घोषित कर दिया.

सहसवान के एसडीएम संजय सिंह ने कहा कि ताला ईंट से नहीं तोड़ा बल्कि चाबी से खोला गया था. उसकी तबीयत बिल्कुल ठीक थी. अचानक उसकी हालत बिगड़ी तो बेहतर इलाज दिलाने की कोशिश भी की गई. उसे किसी तरह की यातनाएं दिए जाने का आरोप निराधार है. फिर भी जांच कराई जाएगी.

ये भी पढ़ें-

UN में बेनकाब हुआ पाकिस्तान, दुनिया सुन रही भारत की बात: सैयद अकबरुद्दीन

डोकलाम तक पहुंचने में सेना को लगेंगे अब सिर्फ 40 मिनट, देखें तस्वीरें

BJP ज्वाइन करने की चर्चा के बीच कांग्रेस विधायक अदिति सिंह को मिली Y+ कैटिगरी की सुरक्षा

Related Posts