Exclusive: “अराजकता फैली है, उन्हें महलों से निकलकर देखना चाहिए”, सोनभद्र नरसंहार पर बोलीं प्रियंका

प्रियंका गांधी ने कहा कि प्रदेश की घटना को छुपाने की कोशिश की जा रही है. बहुत बड़ा हादसा हुआ है. नरसंहार हुआ है.

नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सोनभद्र के पीड़ितों से मिलने के लिए अड़ी हुई हैं. प्रियंका शुक्रवार को बीएचयू के ट्रामा सेंटर में गोलीकांड के घायलों से मिलने के बाद सोनभद्र के लिए रवाना हुई. इसी दौरान मिर्जापुर बॉर्डर पर अदलहाट थाने की पुलिस ने प्रियंका को हिरासत में ले लिया. प्रियंका समेत अन्य कांग्रेस नेताओं को फिलहाल चुनार किले में रखा गया है.

इस बीच टीवी9 भारतवर्ष संवाददाता मनीष यादव ने प्रियंका गांधी से खास बातचीत की है. प्रियंका ने कहा कि ‘विपक्ष की आवाज को दबाने की कोशिश हो रही है लेकिन दबेगी नहीं. जनता की आवाज कभी दब नहीं सकती. बहुत छोटे समय के लिए दब सकती है.’

प्रियंका ने कहा, “प्रदेश की घटना को छुपाने की कोशिश की जा रही है. बहुत बड़ा हादसा हुआ है. नरसंहार हुआ है. उन्हें लगा होगा कि मेरे जाने से बात सामने आ जाएगी. ऐसा हो सकता है.”

उन्होंने कहा कि उनको अपने महलों से निकलकर देखना चाहिए कि बाहर क्या हो रहा है. अराजकता फैल रही है. सरकार अगर सोच रही है कि अराजकता नहीं है, सब कुछ शांतिपूर्वक चल रहा है. अगर उनको दिख रहा है कि हत्याएं नहीं हो रही हैं, तो फिर उन्हें अपने महलों से निकलना पड़ेगा.

कांग्रेस महासचिव ने कहा, “ये जो हादसा हुआ है उसके तीन दिन पहले से गांव के लोग प्रशासन से कह रहे थे कि कुछ होने वाला है, पुलिस को बुला रहे थे. हादसे के दौरान और उसके बाद भी पुलिस को बुलाया गया लेकिन कोई नहीं आया.”

उन्होंने कहा कि पीड़ितों के ऊपर मुकदमे लगाए गए हैं. ये स्थिति एकदम गलत है. अन्याय हो रहा है. इनके शासन में जो कमजोर है उसे कुचला जा सकता है. सरकार को कमजोर को मजबूत करना चाहिए.

ये भी पढ़ें-

ओलंपिक मेडलिस्ट साक्षी मलिक के ससुर पर लगा रेप का आरोप, BSF में तैनात है पीड़िता

दिल्ली: अचानक झुकी गई पांच मंजिला इमारत, दहशत में आए लोग, मुंबई जैसा हो सकता था हादसा

पुणे में भीषण सड़क हादसा, रायगढ़ घूमने जा रहे 9 छात्रों की मौत

Related Posts