‘मुझे सच बोलने दो, कुछ कार्यकर्ताओं ने मेहनत नहीं की’, चुनावी हार पर बोलीं प्रियंका गांधी

रायबरेली में सोनिया गांधी के साथ समीक्षा बैठक करने पहुंची प्रियंका ने पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन पर बात की.

रायबरेली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लोकसभा चुनाव में हार का जिम्‍मेदार कार्यकर्ताओं को ठहराया है. रायबरेली में UPA अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के साथ समीक्षा बैठक करने पहुंची प्रियंका ने पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन पर बात की.

जब प्रियंका से दो शब्‍द कहने को कहा गया तो उन्‍होंने मंच से कहा, “मैं आज यहां भाषण देना नहीं चाह रही थी. क्‍योंकि मैं चाहती हूं कि यहां आकर मैं समीक्षा करके अपनी जो भावना है, वह व्‍यक्‍त करूं.”

प्रियंका गांधी ने कहा, “सच्‍चाई ये है कि… ये चुनाव सोनिया गांधी ने और जनता ने जिताया है. सच्‍चाई ये कि है आप सब में से जिसने दिल से काम किया है, उसकी जानकारी आपको है और जिसने नहीं किया है, उसकी जानकारी मैं करूंगी.”

सोनिया ने अपने संबोधन में कहा, “आप लोग मेरे परिवारजन हैं. हमारे-आपके बीच का रिश्‍ता न तो आज का है, न किसी स्‍वार्थ पर आधारित है.” उन्‍होंने कहा, “इस बार के चुनाव में वोटर्स को भटकाने के लिए हर तरह के प्रपंच रचे गए हैं. जो हुआ वह कितना नैतिक था और कितना नहीं, यह आप सब और सारा देश समझता है.”

सोनिया और प्रियंका यहां पूर्वी उत्तर प्रदेश में हार के कारणों की समीक्षा, मंथन-चिंतन करने आए थे. कम वोटों और मुश्किल हालातों में हुई जीत का क्रमवार विश्लेषण हुआ.

23 मई को लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद सांसद सोनिया गांधी का यह पहला रायबरेली दौरा रहा. दो मई को सोनिया ने सरेनी विधानसभा क्षेत्र में चुनावी जनसभा को संबोधित किया था.

ये भी पढ़ें

कांग्रेस को राज्यसभा चुनावों में गड़बड़ी का अंदेशा, शाह-स्मृति की सीटों के लिए रखी ये मांग

कहां गुम हैं गमगीन तेजस्वी यादव? लालू के जन्मदिन पर भी नहीं दिखे