priyanka gandhi, सोनभद्र नरसंहार पर प्रियंका का धरना ख़त्म, कहा- मेरा मकसद पूरा, पीड़ितों से न छीनी जाए जमीन
priyanka gandhi, सोनभद्र नरसंहार पर प्रियंका का धरना ख़त्म, कहा- मेरा मकसद पूरा, पीड़ितों से न छीनी जाए जमीन

सोनभद्र नरसंहार पर प्रियंका का धरना ख़त्म, कहा- मेरा मकसद पूरा, पीड़ितों से न छीनी जाए जमीन

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र के मूर्तिया गांव में जमीन विवाद को लेकर 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी.
priyanka gandhi, सोनभद्र नरसंहार पर प्रियंका का धरना ख़त्म, कहा- मेरा मकसद पूरा, पीड़ितों से न छीनी जाए जमीन

नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा सोनभद्र नरसंहार के पीड़ितों से मिलने को लेकर अड़ी हुई हैं. यूपी प्रशासन ने प्रियंका को शुक्रवार को पीड़ितों से मिलने की इजाजत नहीं दी थी. प्रियंका को शुक्रवार रात को पुलिस हिरासत में रखा गया. इसके बाद प्रियंका पूरी रात चुनार किले के गेस्ट हाउस में रहीं. प्रियंका ने साफ कर दिया है कि वो पीड़ितों से मिले बिना नहीं जाएंगी.

Live Update: 

  • केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि प्रियंका गांधी लाशों पर राजनीति कर रही हैं.
  • मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रियंका गांधी लाशों के ढेर पर घटिया राजनीति कर रही हैं.
  • प्रियंका गांधी ने कहा कि पूरी योजना से ग्रामीणों पर गोलियां चलाई गईं.
  • यूपी के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा का कहना है कि संवेदनशील मामले पर राजनीति नहीं करनी चाहिए.

  • प्रियंका गांधी ने धरना खत्म कर दिया है.
  • प्रियंका गांधी ने कहा कि मेरा मकसद पूरा हुआ.
  • कांग्रेस पीड़ित परिवारों को 10 लाख रुपए मुआवजा देगी.
  • कांग्रेस नेता सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी ने दोषियों के साथ मिलकर साजिश रची है
  • सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी आदिवासियों की जमीन पर कब्जा करना चाहती है.
  • कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह, राजीव शुक्ला, जितिन प्रसाद, मुकुल वासनिक, दीपेंद्र हुड्डा और राज बब्बर समेत कई लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.
  • इस बीच जिलाधीकारी का बयान आया है कि प्रियंका को केवल सोनभद्र जाने से रोका गया है.
  • सोनभद्र नरसंहार के पीड़ित परिजनों से मिलकर प्रियंका गांधी की आंखों में आंसू छलक आए.

  • कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी और अन्य कई नेता राज्यपाल राम नाईक से मिलने पहुंचे हैं.
  • प्रियंका गांधी चुनार गेस्ट हाउस में फिर से धरना पर बैठ गई हैं.
  • सिर्फ दो लोगों को प्रियंका गांधी से मिलने की इजाजत दी गई है.
  • प्रियंका से मिलने पीड़ित परिवार के 15 सदस्य आए थे.

  • प्रियंका ने यह भी सवाल खड़ा किया कि पीड़ितों के परिजनों को क्यों रोका जा रहा है.
  • प्रियंका गांधी ने कहा कि प्रशासन की मानसिकता समझ से परे है.
  • उम्भा गांव के 15 लोग प्रियंका से मिलने पहुंचे हैं.
  • गांव के लोगों का आरोप है कि पुलिसकर्मी उन्हें गांव से निकलने नहीं दे रहे.
  • प्रियंका ने उम्बा गांवो के लोगों से मुलाकात की है.

  • प्रियंका गांधी ने कहा कि पता नहीं क्यों नहीं मिलने दिए जा रहा है.
  • प्रियंका गांधी ने कहा कि हमें कोई लिखित आदेश नहीं मिला है.
  • प्रियंका ने सवाल किया कि क्या सोनभद्र में कोई बीजेपी सांसद या विधायक गया है?
  • तृणमूल कांग्रेस नेता वाराणसी एयरपोर्ट पर धरने पर बैठे हैं.

  • प्रियंका गांधी ने कहा कि वो पीड़ित परिवारों से मिर्जापुर या वाराणसी में भी मिल सकती हैं. वो बिना मिले नहीं जाएंगी.

  • प्रियंका गांधी ने बताया कि जो भी सरकारी ऑफिसर उनके पास आए हैं वो उनसे कह रहें हैं कि बिना पीड़ित परिवारों से मुलाकत किए बिना ही मैं यहां से चली जाऊं.
  • कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद, आरपीएन सिंह और दीपेंद्र हुड्डा भी वाराणसी के लिए रवाना हो चुके हैं.
  • मिर्ज़ापुर-एडीजी जोन वाराणसी पहुंचे मिर्ज़ापुर चुनार गेस्ट हाउस में बंद कमरे में कर रहे प्रियंका गांधी से मुलाकात,  सोनभद्र में पीड़ित परिवार से मुलाकात को लेकर अड़ी हैं प्रियंका गांधी प्रशासन प्रियंका गांधी को मनाने में जुटा.
  • टीवी 9 भारतवर्ष पर बोली प्रियंका अभी प्रशासन ने मुझे एक पत्र दिखाया है मुझे मुचलका भरने को कहा गया है लेकिन मैं मुचलका नही भरूंगी मैं यंही हूं और उन पीड़ितों से मिलने के लिए आई हूं. साथ ही उन्होंने मांग की कि प्रशासन उन्हें मिलवाने की इजाजत दे.
  • प्रियंका गांधी को सोनभद्र जाने से रोके जाने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने चेन्नई में भी शुरू किया प्रदर्शन.

  • सोनभद्र में धरने पर बैठी प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ‘उत्तर प्रदेश सरकार की ड्यूटी है अपराधियों को पकड़ना. मेरा कर्तव्य है अपराध से पीड़ित लोगों के पक्ष में खड़े होना. भाजपा अपराध रोकने में तो नाकामयाब है मगर मुझे मेरा कर्तव्य करने से रोक रही है. मुझे पीड़ितों के समर्थन में खड़े होने से कोई रोक नहीं सकता. कृपया अपराध रोकिए!”

मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस में पार्टी कार्यकर्त्ताओं के साथ धरने पर बैठीं प्रियंका गांधी ने कहा कि, “मैं सोनभद्र जाऊंगी और पीड़ितों से मुलाकात करूंगी.”

चुनार गेस्ट हाउस ले जाई गईं प्रियंका

सोनभद्र से 25 किलोमीटर पहले पुलिस ने प्रियंका गांधी को वाराणसी के नारायणपुर चौक पर रोका और उन्हें वहां से मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस ले गई. पहले खबर आ रही थी कि सोनभद्र जा रहीं प्रियंका गांधी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है, लेकिन बाद में यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने ये साफ किया कि प्रियंका गांधी को हिरासत में नहीं लिया गया है. बल्कि उनके काफिले को रोका गया है. प्रियंका के सोनभद्र पहुंचने से पहले धारा 144 लगाई गई थी, इसी के चलते उन्हें वहां जाने से रोका गया है. वाराणसी के नारायणपुर चौक पर धरने पर बैठीं प्रियंका गांधी को पुलिस द्वारा हटाए जाने पर प्रियंका ने कहा, “मुझे पता नहीं कहां ले जा रहे हैं.”

कांग्रेस नेता व सांसद राहुल गांधी ने प्रियंका को सोनभद्र जाने से रोकने को सत्ता का गलत इस्तेमाल बताया है.

प्रियंका गांधी सोनभद्र जिले के घोरावल तहसील के उम्भा गांव का दौरा करने के लिए वाराणसी से रवाना हुईं थी. तभी उन्हें प्रशासन ने रोका. इसपर प्रियंका ने कहा, “मैंने तो यहां तक कहा कि मेरे साथ सिर्फ 4 लोग होंगे. फिर भी प्रशासन हमें वहां जाने नहीं दे रहा है. उन्हें हमें बताना चाहिए कि हमें क्यों रोका जा रहा है. हम यहां शांति से बैठे रहेंगे.”

इससे पहले उन्होंने शुक्रवार को वाराणसी के बीएचयू ट्रामा सेंटर पहुंचीं और उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में जमीन विवाद में घायल हुए लोगों का हालचाल जाना.

प्रियंका को रोके जाने पर जगदम्बिका पाल का बयान 

प्रियंका गांधी को सोनभद्र जाने से रोके जाने पर लोकसभा सदस्य व BJP नेता जगदम्बिका पाल ने कहा, “प्रियंका गांधी को सोनभद्र जाने से प्रशासन ने रोका है. निश्चित रूप से प्रशासन को ऐसा लगा होगा कि उनके जाने से वहां के हालात खराब होंगे. प्रियंका गांधी राजनीति करने जा रही थी. उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था.”

राज बब्बर ने कहा

प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी पर पूर्व यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने कहा, “योगीजी क्या छिपा रहे हैं? वह उसे क्यों रोक रहा है? प्रियंका जी जाती तो वहां की स्थिति के बारे में योगी जी को भी बताती. तानाशाही चल रही है.”

सोनभद्र में क्या हुआ

बुधवार को सोनभद्र जिले में भूमि विवाद को लेकर हुई हिंसा में 10 लोगों की हत्या हो गई थी, जबकि 24 से भी अधिक लोग घायल हो गए थे. रिपोर्ट के अनुसार, यह घटना तब हुई जब एक जमीन के टुकड़े को लेकर गुजर और गोंड समुदाय के बीच विवाद हुआ.  पुलिस ने इस सामूहिक हत्याकांड के मामले में 24 लोगों को गिरफ्तार किया है और बाकी आरोपियों को पकड़ने के लिए छापेमारी की जा रही है.

इस मामले में 78 लोगों पर मामला दर्ज किया गया है, जिसमें 50 अज्ञात हैं. एक स्थानीय व्यक्ति लल्लु सिंह की याचिका पर गांव के मुखिया यज्ञदूत व उसके भाई और अन्य पर भी एससी/एसटी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.  पुलिस के अनुसार, हत्याकांड में प्रयोग में लाए गए दो हथियार भी बरामद कर लिए गए हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी पुलिस महानिदेशक ओ.पी सिंह को मामले पर कड़ी नजर रखने का आदेश दिया है.

ये  पढ़ें: नीतीश-तेजस्वी शासन या नीतीश-सुशील राज में से कौन रहा बेहतर, पढ़िए अपराध के आंकड़े क्या कहते हैं?

priyanka gandhi, सोनभद्र नरसंहार पर प्रियंका का धरना ख़त्म, कहा- मेरा मकसद पूरा, पीड़ितों से न छीनी जाए जमीन
priyanka gandhi, सोनभद्र नरसंहार पर प्रियंका का धरना ख़त्म, कहा- मेरा मकसद पूरा, पीड़ितों से न छीनी जाए जमीन

Related Posts

priyanka gandhi, सोनभद्र नरसंहार पर प्रियंका का धरना ख़त्म, कहा- मेरा मकसद पूरा, पीड़ितों से न छीनी जाए जमीन
priyanka gandhi, सोनभद्र नरसंहार पर प्रियंका का धरना ख़त्म, कहा- मेरा मकसद पूरा, पीड़ितों से न छीनी जाए जमीन