प्रियंका गांधी वाड्रा संभालेंगी यूपी की कमान, 2022 विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिलेगा फायदा?

पार्टी के अंदर कुछ लोग ऐसे भी हैं जो प्रियंका गांधी को 2022 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाए जाने की मांग कर रहे हैं.

नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी अब पूरे उत्तर प्रदेश में पार्टी की बागडोर संभालेंगी.

दरअसल राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा देने के बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी अपना पद छोड़ दिया था.

इसलिए उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी की ज़िम्मेदारी बढ़ा दी गई है. यूपी प्रदेश प्रभारी महासचिव बनाये जाने से प्रदेश कांग्रेस में उत्साह की लहर है. कई पार्टी कार्यकर्ता ट्विटर पर प्रियंका गांधी को बधाई दे रहे हैं.

ज़ाहिर है 6 महीने पहले ही प्रियंका गांधी को पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया था. इसके साथ ही उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी भी सौंपी गई थी. जबकि पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई थी.

बाद में जब लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद से राहुल गांधी ने इस्तीफा दिया तो उत्तर प्रदेश समेत हर राज्य के बड़े नेताओं के इस्तीफे होने लगे.

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कांग्रेस प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी जिम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया. बाद में यूपी कांग्रेस अध्यक्ष पद से राज बब्बर ने भी इस्तीफ़ा दिया.

राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद पार्टी में पुनर्गठन की प्रक्रिया चल रही है. ऐसे में प्रियंका गांधी को दी गई नई ज़िम्मेदारी के बाद से कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में उत्साह है. पार्टी कार्यकर्ताओं का कहना है कि एक प्रभारी महासचिव होने से फैसले लेने में अनावश्यक देरी नहीं होगी. अब तो यहां संगठन को मजबूती मिलेगी.

पार्टी में एक बड़ा तबका ऐसा है, जो मानता है कि प्रियंका गांधी को 2022 की असली ज़िम्मेदारी दी गई थी इसलिए 2019 लोकसभा चुनाव के लिए प्रियंका को गुनहगार ठहराना ग़लत होगा. प्रियंका ने भी अपनी बैठकों में कहा था कि हम 2019 मजबूती से लड़ेंगे लेकिन हमारा बड़ा फोकस 2022 का विधानसभा चुनाव है.

और पढ़ें- पहले कैंसर पर पाई फतह, अब 8 साल के अरोन्यतेश ने गोल्ड मेडल जीत फहराया तिरंगा

पार्टी के अंदर कुछ लोग ऐसे भी हैं जो प्रियंका गांधी को 2022 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाए जाने की मांग कर रहे हैं.