6 साल की बच्‍ची से की थी दरिंदगी, 10 दिन में ट्रायल पूरा, दोषी को उम्रकैद

पुलिस ने घटना के हफ्ते भर के भीतर चार्जशीट फाइल कर दी थी. POCSO कोर्ट ने दोषी को उम्रकैद और 22,000 रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है.

रायबरेली की एक POCSO अदालत ने नाबालिग से बलात्कार मामले में सिर्फ 10 दिन में फैसला सुनाया. दोषी पाए गए 30 वर्षीय शख्‍स को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. पुलिस ने घटना के हफ्ते भर के भीतर चार्जशीट फाइल कर दी थी.

17 सितंबर को 6 साल की बच्‍ची के साथ रेप हुआ था. जांच पूरी कर 23 सितंबर को अदालत में चार्जशीट दाखिल कर दी गई. 26 सितंबर तक आरोपी राम मिलन लोधी के खिलाफ आरोप तय कर दिए गए. उसे रायबरेली जेल में रखा गया है.

POCSO कोर्ट में चला ट्रायल

सरकारी वकील दिनेश कुमार ने बताया, “POCSO कोर्ट ने राम मिलन लोधी को उम्रकैद और 22,000 रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है. पीड़‍िता और उसकी मां समेत 8 गवाहों से ट्रायल के दौरान पूछताछ की गई. डिफेंस ने अपना कोई गवाह अदालत में पेश नहीं किया.”

पुलिस यह साबित करने में सफल रही कि राम मिलन ने 17 सितंबर को वारदात को अंजाम दिया. बच्‍ची घर में उस वक्‍त अकेली थी. अगले दिन, बच्‍ची की मां ने राम मिलन के खिलाफ केस दर्ज कराया. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ SC/ST एक्‍ट भी लगाया.

ये भी पढ़ें

Aadhaar Card बनवाने गई थी लड़की, दरिंदों ने बंधक बनाकर एक महीने तक किया गैंगरेप

गर्लफ्रेंड बन लेडी कांस्टेबल ने बदमाश से की प्यार भरी बातें, फिर मिलने बुलाया और धर दबोचा