आजम खान को झटका, जौहर यूनिवर्सिटी का टूटेगा गेट; ₹3.27 करोड़ का लगा जुर्माना

भूमाफिया घोषित किये जाने के बाद अब तक उन पर 27 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं.

लखनऊ: जौहर यूनिवर्सिटी गेट केस में रामपुर से सपा सांसद आजम ख़ान को गुरुवार को कोर्ट से बड़ा झटका लगा है.

यूपी जिलाधिकारी सदर न्यायालय ने आजम खान के मौलाना मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के अंदर जा रहे सार्वजनिक मार्ग से अनधिकृत कब्जा हटाने के आदेश दिए हैं.

इतना ही नहीं उप जिलाधिकारी सदर रामपुर प्रेम प्रकाश तिवारी ने क्षतिपूर्ति के रूप में आजम खान पर 3 करोड़ 27 लाख 60 हज़ार रुपये का जुर्माना भी लगाया है.

कोर्ट ने यह भी कहा है कि जब तक आजम ख़ान द्वारा अनधिकृत कब्जा नहीं हटाया जाता है तब तक 9 लाख 10 हज़ार रुपये प्रतिमाह की दर से 15 दिन के अंदर वादी लोक निर्माण विभाग में जमा कराएं .

बता दें जौहर यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति आजम खान हैं और उनके ऊपर किसानों और सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे का आरोप लगा है. इस मामले में एसआईटी जांच भी जारी है.

भूमाफिया घोषित किये जाने के बाद अब तक उन पर 27 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं.

बता दें कि जिस जगह पर मुख्य द्वार बना है वह 11.500 किलो मीटर रोड पीडब्ल्यूडी का है. इसके रास्ते में जौहर यूनिवर्सिटी ने अतिक्रमण कर अपना मुख्य द्वार बना लिया है.

इसके चौड़ीकरण का कार्य भी पीडब्ल्यूडी ने किया है. पीडब्ल्यूडी ने ही एसडीएम कोर्ट में इसके खिलाफ वाद दायर किया था.

जिसमें जौहर यूनिवर्सिटी के चांसलर आज़म खान को नोटिस भी हुआ था. आज़म खान ने इस केस को ट्रांसफर करने की अपील भी की थी, लेकिन वो अर्जी खारिज हो गई थी.