पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद और गहराई रोहित शेखर की मौत मिस्ट्री

रोहित शेखर की पोस्टमोर्टम रिपोर्ट आने के बाद क्राइम ब्रांच ने हत्या यानी आईपीसी 302 के तहत केस दर्ज किया है.

नई दिल्ली: उत्‍तर प्रदेश और उत्‍तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत के बाद नया मामला सामने आया है. रोहित शेखर की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद क्राइम ब्रांच ने हत्या यानी आईपीसी 302 के तहत केस दर्ज किया है. दरअसल रिपोर्ट से पता चला है कि रोहित शेखर की मौत दम घुटने से हुई है.

डिफेंस कॉलोनी थाना पुलिस के मुताबिक मंगलवार शाम उनके कमरे में जब घर का नौकर खाना देने पहुंचा तो उसने बिस्तर पर लेटे रोहित के मुंह से खून आते देखा था. साथ ही तकिए पर भी खून जमा हुआ पाया गया था.

पुलिस अधिकारियों के अनुसार रोहित के डिफेंस कॉलोनी स्थित घर के अंदर व बाहर CCTV कैमरे लगे थे, ये कैमरे काफी समय से बंद पड़े हुए थे. पुलिस ने घर से CCTV के डीवीआर ले लिए हैं. तकनीकी विशेषज्ञ अधिकारियों को जांच में शामिल किया गया है.

इस पूरे मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है. क्राइम ब्रांच के अधिकारी रोहित के घर भी पहुँचे जहां रोहित के परिवारजन से पूछताछ की. रोहित की पत्नी अपूर्वा से भी पूछताछ की.

रोहित की मौत के बाद उनकी मां ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि मेरा बेटे की मौत नेचुरल हुई है. बाद में अपने बयानों को मोड़ देते हुए उन्होंने कहा था कि मेरा बेटा अवसाद में था. मेरे बेटे की मौत डिप्रेशन से हुई है, जिनके कारण मेरे बेटे की मौत हुई उनके नाम जल्द बताऊंगी.

ये था पूरा मामला-

उत्‍तर प्रदेश और उत्‍तराखंड के पूर्व सीएम एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मंगलवार शाम को संदिग्‍ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. उन्‍हें हार्ट अटैक आया था, जिसके बाद उन्‍हें पत्नी और मां ने मैक्स में भर्ती करवाया था. जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था.

2008 में रोहित शेखर ने एनडी तिवारी को अपना जैविक पिता बताते हुए कोर्ट में मुकदमा कर दिया था.

कोर्ट ने डीएनए टेस्ट कराने का आदेश दिया तो एनडी तिवारी ने नमूना देने से इनकार कर दिया था. बाद में एनडी तिवारी ने रोहित शेखर को बेटा मानते हुए उन्‍हें संपत्ति का वारिस भी बनाया.

इतना ही नहीं, एनडी तिवारी ने रोहित शेखर की मां उज्‍जवला से 88 साल की उम्र में शादी की थी. उज्जवला से एनडी तिवारी के प्रेम संबंध रहे, मगर उन्होंने शादी नहीं की थी. बाद में रोहित शेखर को बेटा स्‍वीकार करने के बाद शादी भी की.

एनडी तिवारी ने कहा था, ‘मुझे अपनी तरह से जिंदगी जीने का हक है. किसी को मेरी निजी जिंदगी में झांकने का हक नहीं. मेरी निजता का सम्मान करें.’ 3 मार्च 2014 को एनडी तिवारी ने रोहित शेखर को बेटा माना. उन्‍होंने कहा, ‘डीएनए टेस्ट से भी साबित हुआ है कि वह मेरा जैविक पुत्र है. 14 मई 2014 को तिवारी ने रोहित शेखर की मां उज्जवला तिवारी से लखनऊ में हुए एक समारोह में शादी की थी.’

एनडी तिवारी का निधन अक्‍टूबर 2018 में हो गया था. वह 93 साल के थे. वह इकलौते ऐसे शख्स थे, जो दो राज्यों के मुख्यमंत्री पद पर रहे. वह तीन बार उत्तरप्रदेश और एक बार उत्तराखंड के सीएम बने. एनडी तिवारी आंध्र प्रदेश के राज्यपाल भी रहे.

ये भी पढ़ें- ‘बच्‍चा नहीं, पिता नाजायज होता है’, ये बात कहने वाले रोहित शेखर की कहानी

ये भी पढ़ें- एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की संदिग्‍ध परिस्थितियों में मौत

ये भी पढ़ें- रोहित शेखर की मां ने कहा ‘मेरा बेटा जिनके कारण डिप्रेशन में था उनके नाम जरूर बताऊंगी’