साक्षी ने लगाए आरोप तो छलका भाई का दर्द, कहा- ‘मां सदमे में है’

23 साल की साक्षी मिश्रा ने बुधवार को वीडियो में कहा था कि जाति के बाहर शादी करने के कारण उसे पिता राजेश मिश्रा, भाई और उसके समर्थकों से जान का खतरा है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बरेली बिथरी चौनपुर से भाजपा विधायक राजेश मिश्र उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी का प्रेम विवाह मामला मीडिया की सुर्खियों में है. बरेली के बिथरी चौनपुर के भाजपा विधायक की बेटी साक्षी दो जुलाई को घर छोड़कर प्रेमी अजितेश के साथ चली गई थी. साक्षी ने अजितेश के साथ दो वीडियो वायरल किए, जिसमें उसने खुद को जान का खतरा बताया और सुरक्षा मांगी.

इस मामले को लेकर साक्षी के भाई विक्की का कहना है कि उन्हें अपनी बहन से ये उम्मीद बिल्कुल नहीं थी. उसके लगाए आरोप असहनीय हैं. साक्षी की मां सुनीता बेटी के इस तरह के बयानों की वजह से सदमे में हैं और कई दिनों से कुछ खा-पी नहीं रही हैं. कमजोरी के चलते उनकी हालत खराब है.

विक्की का कहना है कि उनकी बहन का चाहे जो भी कहे, मगर हमने उसे हमेशा सपोर्ट किया. उसने पढ़ाई के लिए जयपुर जाने का मन बनाया तो भाई ने ही मां-बाप से उसकी पैरवी की. कॉलेज में मोबाइल बैन होने के बावजूद उसे 20 हजार रुपये का मोबाइल दिलाया. इस सब के बाद जब बहन का ऐसे आरोप लगाना बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

ये भी पढ़ें- प्लीज साक्षी, अब नए रिश्ते को सहेजो, लेकिन मां-बाप को इतना शर्मसार न करो ..

गौरतलब है कि 23 साल की साक्षी मिश्रा ने बुधवार को वीडियो में कहा था कि जाति के बाहर शादी करने के कारण उसे पिता राजेश मिश्रा, भाई और उसके समर्थकों से जान का खतरा है. इसके साथ ही साक्षी ने अपने और अपने पति अजितेश कुमार (29) के लिए पुलिस से सुरक्षा मांगी और प्रोटेक्शन के लिए इलाहाबाद हाई कोर्ट भी पहुंची.

अपनी बेटी के वीडियो पर विवाद बढ़ने पर राजेश मिश्रा ने गुरुवार को एक बयान जारी कर साक्षी के आरोप को नकार दिया. उन्होंने कहा कि साक्षी एक बालिक है और उसे अपने फैसले लेने का अधिकार है. राजेश ने कहा, “मैंने ना किसी को धमकी दी, ना मैंने कुछ तलाश किया. बालिग लोग हैं, उनको निर्णय लेने का अधिकार है. मुझसे किसी को कोई खतरा नहीं है. ना मैंने किसी को फोन किया, ना मेरे परिवार के किसी आदमी ने किया. मैं जनता का काम निपटा रहा हूं. मेरी तरफ से किसी को कोई खतरा नहीं है.

उन्होंने कहा कि ‘कोई आदमी नहीं ढूंढ रहा है और ना ही मुझे इसके बारे में कोई जानकारी है. वह कहां है, मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है. यह बात गलत है कि कोई ढूंढ रहा है. कोई नहीं ढूंढ रहा है. मैं तो कहीं गया नहीं हूं. सबको पता है कि मैं यही हूं. मेरे लोग यहां हैं. भाई और भतीजे आए हैं.’

Related Posts