करप्शन पर योगी सरकार का बड़ा एक्शन, 7 पीपीएस अफसरों को जबरन किया रिटायर

आगरा के डीएसपी नरेंद्र सिंह राणा, झांसी में पीएसी के सहायक सेनानायक रतन कुमार यादव, तेजवीर सिंह यादव, 27वीं वाहिनी पीएसी सीतापुर को जबरन रिटायर कर दिया गया है.

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भ्रष्टाचार और कार्य शिथिलता पर बेहद सख्त रुख अख्तियार किया है. यूपी में सात पीपीएस अफसरों को नौकरी से जबरन बर्खास्त कर दिया गया है. इनको अनिवार्य सेवानिवृति दे दी गई है. माना जा रहा है कि योगी सरकार के इस एक्शन से लापरवाह अफसरों को कड़ा संदेश मिलेगा जिससे काम में सक्रियता और अधिक बढ़ेगी.

इनमें अरुण कुमार, सहायक सेनानायक, 15 वीं वाहिनी पीएसी, आगरा, विनोद कुमार गुप्ता, पुलिस उपाधीक्षक, फैजाबाद को जबरन रिटायर किया गया है. वहीं, आगरा के डीएसपी नरेंद्र सिंह राणा, झांसी में पीएसी के सहायक सेनानायक रतन कुमार यादव, तेजवीर सिंह यादव, 27वीं वाहिनी पीएसी, सीतापुर को जबरन रिटायर कर दिया गया है.

Seven PPS officers forced to retire, करप्शन पर योगी सरकार का बड़ा एक्शन, 7 पीपीएस अफसरों को जबरन किया रिटायर

इनके अलावा संतोष कुमार सिंह मंडल अधिकारी, मुरादाबाद और तनवीर अहमद खां को जबरन रिटायर कर दिया गया है. इन सभी की उम्र 50 साल से अधिक है और इनके ऊपर कार्य में शिथिलता तथा अन्य कई आरोप लगे हैं. इस तरह की चर्चा पिछले कुछ दिनों से हो रही थी कि योगी सरकार भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ जल्द ही कोई बड़ा एक्शन लेनी वाली है. कहा यह भी जा रहा है कि ये सिलसिला आगे भी जारी रह सकता है.

ये भी पढ़ें-

कोर्ट ने कर्नाटक सरकार से पूछा- दूसरी जयंतियां मनाने में जब ऐतराज नहीं तो फिर टीपू जयंती पर क्यों?

अगर मुझे भारत को सौंपा गया तो कर लूंगा आत्महत्या, ब्रिटेन की अदालत में बोला नीरव मोदी

एक बार फिर लंदन की अदालत ने खारिज की भगोड़े नीरव मोदी की जमानत याचिका