यूपी कांग्रेस को ‘न्‍याय पदयात्रा’ निकालने की प‍रमिशन नहीं, कई नेता गिरफ्तार, सैकड़ों कार्यकर्ता हिरासत में

कांग्रेसियों ने शाहजहांपुर से लखनऊ तक, 180 किलोमीटर लंबी पदयात्रा के जरिए यूपी की योगी आदित्‍यनाथ सरकार पर हल्‍ला बोलने की योजना बनाई है.

शाहजहांपुर यौन शोषण पीड़िता को न्‍याय दिलाने के लिए निकाली जाने वाली कांग्रेस की ‘न्‍याय पदयात्रा’ विवादों में फंस गई है. जिला प्रशासन ने पार्टी को पदयात्रा की अनुमति नहीं दी है. वहीं पार्टी अड़ी है कि वह हर हाल में ‘न्‍याय पदयात्रा’ निकालेगी.

सोमवार सुबह 8 बजे उत्तर प्रदेश विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने गिरफ्तार किया. राष्ट्रीय सचिव धीरज गुर्जर को होटल में नजरबंद किया गया है. राष्ट्रीय सचिव सचिन नाइक को भी पदयात्रा निकालते सैकड़ों कार्यकर्ताओं समेत गिरफ्तार कर लिया गया. देर रात से ही पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को नज़रबंद करना शुरू कर दिया था. कांग्रेस के सैकड़ो कार्यकर्ताओं को शाहजहांपुर पुलिस लाइन में बंद किया गया है.

लल्‍लू ने मीडिया से बातचीत में कहा कि ‘हम शाहजहांपुर की बेटी को न्‍याय दिलाकर रहेंगे. जेल की दीवारें हमारे मजबूत इरादों को नहीं डिगा सकतीं. हजार बार भी जेल जाना पड़े, फिर भी परवाह नहीं.”

कांग्रेस के पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को प्रशासन ने नजरबंद किया है. उनके घर के बाहर भारी पुलिस बल तैनात है. जिला कांग्रेस कार्यालय पर लगे कार्यक्रम के टेंट को भी उखड़वा दिया गया है. कांग्रेसियों ने शाहजहांपुर से लखनऊ तक, 180 किलोमीटर लंबी ‘न्‍याय पदयात्रा’ के जरिए सरकार पर हल्‍ला बोलने की योजना बनाई थी.

प्रशासन द्वारा दिया गया जवाब

न्‍याय पदयात्रा, यूपी कांग्रेस को ‘न्‍याय पदयात्रा’ निकालने की प‍रमिशन नहीं, कई नेता गिरफ्तार, सैकड़ों कार्यकर्ता हिरासत में

शाहजहांपुर के जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने बताया, “इस समय जिले में नवरात्रि, दुर्गापूजा, रामलीला के कारण धारा 144 लागू है, इस कारण यात्रा की अनुमति दिया जाना संभव नहीं है. वैसे भी यात्रा की अनुमति के लिए सात दिन पहले आवेदन करना पड़ता है, जबकि कांग्रेस के नेताओं ने ऐसा नहीं किया है. त्योहार भी शुरू हो गए है. ऐसे में अनुमति नहीं दी जाएगी.”

कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्‍तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट किया, “उप्र में अपराधियों को सरकार का सरंक्षण है कि वो बलात्कार से पीड़ित लड़की को डरा-धमका सकें. लेकिन, उप्र भाजपा सरकार शाहजहांपुर की बेटी के लिए न्याय माँगने की आवाज को दबाना चाहती है. पदयात्रा रोकी जा रही है. हमारे कार्यकर्ताओं नेताओं को गिरफ़्तार किया जा रहा है. डर किस बात का है?”

कांग्रेस नेता सुष्मिता देव ने ट्वीट किया, मैं अभी शाहजहांपुर पहुंची हूं और यह जानकर हैरान हूं कि पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए यूपी कांग्रेस द्वारा की जानेवाली शांतिपूर्ण पदयात्रा की अनुमति प्रशासन ने नहीं दी है. लोकतंत्र में महिला सुरक्षा के लिए उठी हर आवाज़ को दबाने की योगी आदित्‍यनाथ की यह कायरतापूर्ण कोशिश है.”

शाहजहांपुर रेप पीड़‍िता के पक्ष में ‘न्‍याय पदयात्रा’

पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली छात्रा के पक्ष में पार्टी ‘न्‍याय पदयात्रा’ निकाल रही है. शाहजहांपुर की एक स्थानीय अदालत ने एक कानून की छात्रा का यौन उत्पीड़न करने को लेकर 20 सितंबर को चिन्मयानंद को 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. वह फिलहाल अस्‍पताल में भर्ती हैं.

यूपी कांग्रेस ने सभी कार्यकर्ताओं को यह संदेश भेजा है, “प्रत्येक भारतीय का यह अधिकार है कि वह अन्याय के विरुद्ध प्रतिकार करें. कांग्रेस पार्टी शाहजहांपुर की बेटी को न्याय दिलाने हेतु संकल्पित है. उत्तर प्रदेश में आज जिस तरह से महिलाओं के विरुद्ध अपराधों की ज्वालामुखी जैसी अग्नि भड़क रही है, वह बहुत ही चिंता का विषय है. उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी श्रीमती प्रियंका गांधी जी के दिशा निर्देशानुसार एक लंबी लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है. महात्मा गांधी जी के सत्याग्रह से अंग्रेज भी डरते थे और आज उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भी कांग्रेस के गांधीवादी तरीकों के जा रहे विरोध प्रदर्शनों से भयभीत है. सत्य के लिए भिड़ेंगे लड़ेंगे और जीतेंगे.

ये भी पढ़ें

14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजी गई चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली लड़की, उगाही का आरोप

‘बंदूक दिखाकर धमकाया, मुझ पर पेशाब तक की’, यूपी के दर्जा प्राप्‍त राज्‍यमंत्री पर पत्‍नी ने लगाए गंभीर आरोप