BJP ने जूता मार सांसद का काटा टिकट, पिता पर खेला दांव

सांसद शरद त्रिपाठी के पिता रमापति राम त्रिपाठी उत्तर प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं और राजनाथ सिंह के भी करीबी माने जाते हैं.

नई दिल्ली: राजनीति में दिलचस्पी रखने वालों से लेकर आम लोग भी उत्तर प्रदेश के सांसद-विधायक जूता कांड को अभी तक नहीं भूले होंगे. आखिरकार अपनी ही पार्टी के विधायक पर जूते बरसाना सांसद शरद त्रिपाठी को महंगा पड़ गया. फिलहाल संतकबीरनगर लोकसभा सीट से सांसद शरद त्रिपाठी का टिकट भाजपा ने काट दिया है.

दरअसल शरद त्रिपाठी ने अपनी ही पार्टी के विधायक को भरी सभा में जूते से पीट दिया था. जिसके बाद सोशल मीडिया से लेकर मेन स्ट्रीम मीडिया में शरद त्रिपाठी की जमकर किरकिरी हुई थी. BJP ने संतकबीरनगर लोकसभा सीट से शरद त्रिपाठी का टिकट काटते हुए उनके पिता को देवरिया से प्रत्याशी बनाया है.

जबकि BJP ने संतकबीरनगर लोकसभा सीट से सपा छोड़ भाजपा में शामिल हुए प्रवीण निषाद को मौका दिया है. प्रवीण निषाद गोरखपुर से 2018 में उपचुनाव जीतकर सांसद बने थे तब वह समाजवादी पार्टी के साथ थे.

शरद त्रिपाठी के पिता रमापति राम त्रिपाठी उत्तर प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं और राजनाथ सिंह के भी करीबी माने जाते हैं. यही वजह है कि बेटे को मैदान से बाहर कर पिता पर दांव खेला है.

देखिए कैसे हड़बड़ा गए थे सांसद शरद त्रिपाठी जब जूता कांड पर TV9 भारतवर्ष से पूर्णिमा मिश्रा ने बात की.

ये भी पढ़ें- बीजेपी ने गोरखपुर से रवि किशन को मैदान में उतारा, कई सांसदों के टिकट काटे 

ये भी पढ़ें- ऑपरेशन भारतवर्ष में बेनकाब हुए प्रवीण निषाद को BJP ने इस सीट से दिया टिकट