sidhu, “मच्छर को कपड़े पहनाना, हाथी को गोद में झुलाना और मोदी से सच बुलवाना असंभव”
sidhu, “मच्छर को कपड़े पहनाना, हाथी को गोद में झुलाना और मोदी से सच बुलवाना असंभव”

“मच्छर को कपड़े पहनाना, हाथी को गोद में झुलाना और मोदी से सच बुलवाना असंभव”

बिजनौर से कांग्रेस प्रत्याशी इमरान प्रतापगढ़ी के समर्थन में आयोजित सभा में कांग्रेस के स्टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू ने दिया विवादित बयान.
sidhu, “मच्छर को कपड़े पहनाना, हाथी को गोद में झुलाना और मोदी से सच बुलवाना असंभव”

नई दिल्ली: चुनावी मौसम में नेताओं के बिगड़े बोल आम बात नहीं है. आए दिन चुनाव आयोग नेताओं के विवादित बयानों पर नोटिस जारी करता रहता है लेकिन बड़बोलापन थमने का नाम नहीं ले रहा. इसी कड़ी में नाम जुड़ गया है कांग्रेस के स्टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot singh sidhu) का. सिद्धू (Navjot singh sidhu) ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि, ‘नरेंद्र मोदी जब तुम पैदा भी नहीं हुए थे तब बाबा साहेब अंबेडकर ने संविधान लिख दिया था, जब तुमने चड्ढी भी नहीं पहनी होगी तब नेहरू जी ने यान बनवा के उड़वा दिए थे.’

नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot singh sidhu) ने बिजनौर के अफजलगढ़ में रविवार को गांव खुशहालपुर के रामलीला मैदान में कांग्रेस प्रत्याशी इमरान प्रतापगढ़ी के समर्थन में आयोजित सभा में यह बयान दिया. सिद्धू यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा, ‘मोदी की फिल्म आ रही है फेंकू नंबर वन, झूठा नंबर वन.’ सिद्धू ने प्रधानमंत्री मोदी की मिमिक्री करके भी लोगों की खूब तालियां बटोरीं. सिद्धू ने अपने चिर परिचित अंदाज़ में कहा कि ‘मच्छर को कपड़े पहनाना, हाथी को गोद में झुलाना और मोदी से सच बुलवाना असंभव बात है.’

सिद्धू ने अपनी तुकबंदी से लोगों को खूब गुदगुदाया और कहा कि, ‘काहे का तू चौकीदार है पूरे देश में हाहाकार है, बात करोड़ों की, दुकान पकौड़ों की, संगत भगोड़ों की.’ इसके अलावा सिद्धू ने रैली में आए लोगों से ‘पूरे ब्रह्ममांड में शोर है चौकीदार चौर है के खूब नारे लगवाये.’ इस मौके पर सिद्धू ने मोबाईल पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बात लोगो से कराई और राहुल गाँधी ने फोन पर सभा को सम्बोधित भी किया.

ये भी पढ़ें, श्रीलंका में हुए सीरियल बम धमाकों में 3 भारतीयों समेत 207 लोग मरे, 7 संदिग्ध गिरफ्तार

ये भी पढ़ें, इन 4 राज्यों में गिरी मोदी की लोकप्रियता, राहुल गांधी बने प्रधानमंत्री पद की पहली पसंद

sidhu, “मच्छर को कपड़े पहनाना, हाथी को गोद में झुलाना और मोदी से सच बुलवाना असंभव”
sidhu, “मच्छर को कपड़े पहनाना, हाथी को गोद में झुलाना और मोदी से सच बुलवाना असंभव”

Related Posts

sidhu, “मच्छर को कपड़े पहनाना, हाथी को गोद में झुलाना और मोदी से सच बुलवाना असंभव”
sidhu, “मच्छर को कपड़े पहनाना, हाथी को गोद में झुलाना और मोदी से सच बुलवाना असंभव”