मस्जिदों में लाउड स्पीकर लगाने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- बिगड़ सकता है सामाजिक संतुलन

अदालत ने एसडीएस के आदेश में विशेष न्यायिक क्षेत्राधिकार का उपयोग करते हुए हस्तक्षेप करने से यह कहते हुए मनाकर दिया कि ऐसा करने पर सामाजिक संतुलन बिगड़ सकता है.

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी के एक गांव में मस्जिदों पर लाउडस्पीकर और एम्प्लीफायर लगाने पर एसडीएम द्वारा लगाई रोक हटाने से इनकार कर दिया है. अदालत ने एसडीएस के आदेश में विशेष न्यायिक क्षेत्राधिकार का उपयोग करते हुए हस्तक्षेप करने से यह कहते हुए मनाकर दिया कि ऐसा करने पर सामाजिक संतुलन बिगड़ सकता है.

इस मामले में जस्टिस पंकज मित्तल और विपिन चंद्र दीक्षित ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 25(1) सभी नागरिकों को धर्म को मानने उसका प्रचार करने की अनुमति तो देता है, लेकिन यह बुनियादी तथ्य है कि हाईकोर्ट सामाजिक संतुलन बनाए रखने के लिए विशेष अधिकार का उपयोग करे.

बात दें कि याचिका दाखिल करने वालों की दलील थी कि मस्जिदों में रोजाना 5 बार 2 मिनट के लिए इन उपकरणों का प्रयोग करने की अनुमति दी जाएं. इससे प्रदूषण या शांत अवस्था को कोई खतरा नहीं होगा.

ये भी पढ़ें – UP: सेना में भर्ती के नाम पर ठगे लाखों रुपये, STF ने 2 जवानों समेत 4 को किया गिरफ्तार