उत्तर प्रदेश: COVID-19 अस्पतालों में संक्रमित मरीजों को शर्तों के साथ मोबाइल इस्तेमाल करने की इजाजत

योगी सरकार के नए आदेश के मुताबिक, राज्य के COVID-19 अस्पतालों के आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) में मरीज मोबाइल और चार्जर किसी से शेयर नहीं कर सकते हैं, इन्‍हें डिस्‍इन्‍फेक्टेड करने के बाद ही अस्पताल प्रबंधन मरीज को सौंपेगा.

उत्तर प्रदेश सरकार ने कोविड अस्पतालों में रोगियों के मोबाइल इस्तेमाल करने पर प्रतिबंध लगाने वाला आदेश वापस ले लिया है. कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों को अब कुछ शर्तों के साथ मोबाइल इस्तेमाल करने की इजाजत होगी. मोबाइल और चार्जर किसी दूसरे मरीज से शेयर नहीं किया जाएगा, इन्‍हें डिस्‍इन्‍फेक्टेड करने के बाद ही अस्पताल प्रबंधन मरीज को सौंपेगा.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

इससे पहले योगी आदित्यनाथ की सरकार ने राज्य में COVID-19 अस्पतालों के आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) के अंदर कोरोना मरीजों के मोबाइल फोन रखने पर प्रतिबंध लगा दिया था. जिसके चलते L-2 और L-3 कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में अपने साथ मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं थी. राज्य सरकार ने शनिवार रात एक आदेश जारी किया था जिसके अनुसार, कोविड केयर सेंटर्स के वार्ड इंचार्ज के पास दो मोबाइल फोन रहेंगे, ताकि मरीज जरूरत पड़ने पर अपने परिवार के सदस्यों और प्रशासन से बात कर सकें.

इसके अलावा आदेश में यह भी कहा गया था कि मरीजों के परिवार के सदस्यों को भी यह मोबाइल नंबर बताए जाएं, ताकि जरूरत पड़ने पर वो मरीज़ से बात कर सकें. यह आदेश चिकित्सीय शिक्षा के महानिदेशक केके गुप्ता ने जारी किया था. फ़िलहाल रविवार को यह आदेश वापस ले लिया गया. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध नये आंकड़ों के अनुसार, उत्तर प्रदेश में फिलहाल कोरोना पॉजीटिव रोगियों की संख्या 5,735 है और पिछले दस दिनों से यह संख्या लगातार बढ़ रही है.

-IANS इनपुट के साथ

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts