अरुण जेटली की सीट से निर्विरोध चुनकर राज्यसभा पहुंचे सुधांशु त्रिवेदी

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद ये राज्यसभा सीट खाली हो गई थी.

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद उनकी राज्यसभा सीट खाली हो गई थी. उस सीट से बीजेपी उम्मीदवार सुधांशु त्रिवेदी को निर्विरोध चुना गया है. उत्तर प्रदेश के कई मंत्रियों की उपस्थिति में उन्हें राज्यसभा निर्वाचन का प्रमाण पत्र दिया गया.

सुधांशु त्रिवेदी पिछले काफी समय से पार्टी प्रवक्ता के तौर पर काम कर रहे थे. पूर्व केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा और उत्तर प्रदेश के पूर्व बीजेपी अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेई का नाम भी इस सीट के लिए सुनने में आ रहा था लेकिन सुधांशु त्रिवेदी बाजी मार ले गए.

वर्तमान में केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह जब पार्टी अध्यक्ष बने थे तो सुधांशु त्रिवेदी की भूमिका उनके सलाहकार की थी. सुधांशु त्रिवेदी ने लखनऊ से मकैनिकल इंजीनियरिंग में पीएचडी की है. उसके बाद कई विश्वविद्यालयों में पढ़ाया भी है. 2014 और 2019 में उनके नाम की चर्चा लोकसभा टिकट के लिए हो रही थी लेकिन वो उन्हें नहीं मिला. आखिरकार वे नरेंद्र मोदी और अमित शाह को प्रभावित करने में कामयाब रहे.

ये भी पढ़ें: 

नहीं आई ‘भारत माता की जय’ की आवाज तो BJP प्रत्याशी ने कहा- पाकिस्तान से आए हो क्या
सड़क हादसों में घायल लोगों के इलाज के लिए केजरीवाल ने शुरू किया ‘फरिश्ते दिल्ली के’