24 साल पहले बेचा था मिलावटी दूध, अब SC ने सुनाई 6 साल की सजा

राज कुमार के वकील ने सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध किया कि यह मामला 24 साल पुराना है, इसलिए इसमें थोड़ी उदारता दिखाएं.
Supreme Court, 24 साल पहले बेचा था मिलावटी दूध, अब SC ने सुनाई 6 साल की सजा

दूध बेचने से पहले उसे मिलावटी करने वाले एक व्यक्ति को सुप्रीम कोर्ट ने 6 महीने जेल की सजा सुनाई है. शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने लगभग 24 साल पहले मिलावटी दूध बेचने के आरोप में उत्तर प्रदेश के इस दूध व्यापारी को छह महीने के लिए जेल भेज दिया है.

इसके साथ ही कोर्ट ने फैसला सुनाया कि अदालतें खाद्य अपमिश्रण अधिनियम की रोकथाम के तहत निर्धारित मानकों से किसी भी प्रकार का समझौता नहीं कर सकतीं.

टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार, यह दूध उत्तर प्रदेश के रहने वाले राज कुमार द्वारा बेचा गया था. 1995 में एक पब्लिक एनालिस्ट ने दूध की जांच की जिसमें, 4.6 प्रतिशत मिल्क फैट पाया गया और 7.7 प्रतिशत सॉलिड नॉन फैट मिला, जबकि इस दूध को 8.5 प्रतिशत के निर्धारित मानक के मुकाबले बेचा जाना चाहिए था.

वहीं सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनाई गई सजा को चुनौती देते हुए, कुमार के वकील ने निवेदन किया कि पशु आहार और गाय के स्वास्थ्य की गुणवत्ता के कारण इस प्रकार की स्थिति उत्पन्न हो सकती हैं. राज कुमार के वकील ने सुप्रीम कोर्ट से अनुरोध किया कि यह मामला 24 साल पुराना है, इसलिए इसमें थोड़ी उदारता दिखाएं.

इस मामले की सुनवाई कर रही जस्टिस दीपक गुप्ता और अनिरुद्ध बोस की बेंच ने कहा, “हमारा विचार है कि एक बार जब विधानपालिका द्वारा मानक निर्धारित किए जाते हैं, तो उन मानकों का ठीक प्रकार से पालन किया जाए.”

 

ये भी पढ़ें-  सऊदी अरब की यात्रा पर जा सकते हैं पीएम मोदी, तेल कंपनी अरामको भारत में निवेश की बना रही है योजना

जब लुटेरों ने रिटायर्ड पुलिस ऑफिसर की पीट-पीट कर ले ली जान, बैंक से पैसे निकालकर लौट रहे थे घर

Related Posts