दुकान से सामान लेने गई बच्ची हुई गायब, बच्चा चोरी की घटना को पुलिस मान रही महज अफवाह

जन्नत कॉलोनी निवासी कासिम की पांच साल की बेटी को अपने घर से मोहल्ले में परचून की दुकान से सामान लेने के लिए गई थी. कथिर तौर पर बिटिया का वहीं से अपहरण हो गया.

लखनऊ: शामली के कांधला कस्बे के एक मोहल्ले में घर से दुकान पर सामान लेने के लिए गई एक बच्ची गायब हो गई है. मामले की सूचना पुलिस को दे दी गई है. पुलिस बच्ची की तलाश कर रही है. शामली के कांधला थाना क्षेत्र से बच्चों को गायब होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. बच्चा चोर गिरोह क्षेत्र में सक्रिय है लेकिन मामले को पुलिस केवल अफवाह मान रही है.

कस्बे के मोहल्ला जन्नत कॉलोनी निवासी कासिम की पांच साल की बेटी को अपने घर से मोहल्ले में परचून की दुकान से सामान लेने के लिए गई थी. दुकान से सामान लेने के बाद बच्ची अपने घर पर नहीं पहुंची. परिजनों ने सोचा कि बच्ची मोहल्ले में खेल रही होगी, लेकिन बच्ची अपने घर पर नहीं पहुंची. परिजनों को उसकी चिंता हुई. परिजनों ने मोहल्ले के लोगों के साथ मिलकर बच्ची की काफी तलाश की, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लग सका.

मामले की सूचना पुलिस को दी गई. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर परिजनों से मामले के बारे में जानकारी ली. परिजनों ने बच्ची के अपहरण की आशंका जताई है. बच्ची के गायब होने से पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस बच्ची की तलाश कर रही है.

गौरतलब है कि इससे पूर्व में कस्बा एलम में घर के बाहर खेल रहे दो वर्षीय बच्चे को तीन साधू के वेश लोग ने उठा लिया था. लोगों ने एक आरोपी को बच्चे सहित मौके पर दबोच कर पुलिस को सौंप दिया था. कस्बे के मोहल्ला दुधियान निवासी इमरान की सात वर्षीय बेटी एक पखवाड़ा से लापता है, लेकिन उसका आज तक भी कोई सुराग नहीं लग सका है. गांव खंदरावली से भी अपने नाना के घर आई मदन की दो वर्षीय धेवती को भी एक साधू ने उठा लिया था. साधू को ग्रामीणों ने जंगल में पकड़ लिया था. उसके बाद साधू बच्ची को छोड़कर फरार हो गया था.

क्षेत्र में बच्चे चोरी की कई घटनाएं हो चुकी है, लेकिन पुलिस केवल एलम की घटना को सही मान रही है, और मामलों को केवल अफवाह बता कर पल्ला झाड़ रही है. मामले में दरोगा सोमवीर सिंह का कहना है कि पीड़ित परिवार ने थाने में बच्ची के गायब होने की तहरीर दी है. गुमशुदगी दर्ज कर बच्ची को तलाश किया जा रहा है.