उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता, उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता दिल्‍ली में ही रहेगी, यूपी सरकार उठाएगी सारा खर्च
उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता, उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता दिल्‍ली में ही रहेगी, यूपी सरकार उठाएगी सारा खर्च

उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता दिल्‍ली में ही रहेगी, यूपी सरकार उठाएगी सारा खर्च

उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता के परिवार ने कोर्ट से कहा था कि उनकी जान को गांव में खतरा है. सुनवाई की अगली तारीख 28 सितंबर तय की गई है.
उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता, उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता दिल्‍ली में ही रहेगी, यूपी सरकार उठाएगी सारा खर्च

उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता को दिल्‍ली के ट्रामा सेंटर हॉस्टल में ही रखा जाएगा. दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने मंगलवार को यह आदेश दिया. पीड़‍िता एम्‍स में इलाज के लिए भर्ती कराई गई थी. पीड़िता के रहने का इंतजाम अगले 7 दिनों के लिए ट्रामा सेंटर हॉस्टल में किया गया है. पीड़‍िता के साथ-साथ उसका परिवार भी यहीं रहेगा.

पीड़‍ित परिवार ने कोर्ट से कहा था कि उनकी जान को गांव में खतरा है. उन्‍होंने सुरक्षा के मद्देनजर दिल्‍ली में ही रहने की इच्‍छा जताई. कोर्ट ने उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता के वकील से दिल्‍ली में रहने ही व्‍यवस्‍था कर उसे अवगत कराने को कहा.

अदालत ने यह भी कहा कि अगले आदेश तक पीड़‍िता और उसके परिवार का खर्च उत्‍तर प्रदेश सरकार उठाएगी. इस मामले में सुनवाई की अगली तारीख 28 सितंबर तय की गई है.

रायबरेली में 28 जुलाई को दुष्कर्म पीड़िता अपनी चाची, मौसी और अपने वकील के साथ कार में यात्रा कर रही थी. उसी दौरान एक तेज रफ्तार ट्रक ने उस कार में जोरदार टक्कर मार दी.

ट्रक का नंबर ग्रीस से मिटाया गया था, इसलिए यह हादसा संदेहास्पद बना हुआ है. पीड़िता की मौसी गैंगरेप मामले की गवाह थी.

ये भी पढ़ें

पुजारी का रूप धर 35 साल तक छकाता रहा, यूं अरेस्‍ट हुआ मर्डर का आरोपी

सगे बेटे ने ही पिता के कर दिए टुकड़े-टुकड़े, 3-4 बाल्टी में भरकर छिपाई थी लाश

उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता, उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता दिल्‍ली में ही रहेगी, यूपी सरकार उठाएगी सारा खर्च
उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता, उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता दिल्‍ली में ही रहेगी, यूपी सरकार उठाएगी सारा खर्च

Related Posts

उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता, उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता दिल्‍ली में ही रहेगी, यूपी सरकार उठाएगी सारा खर्च
उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता, उन्‍नाव गैंगरेप पीड़‍िता दिल्‍ली में ही रहेगी, यूपी सरकार उठाएगी सारा खर्च