उन्नाव गैंगरेप: जेल में ऐसे कानून की धज्जियां उड़ा रहा MLA कुलदीप सिंह सेंगर, देखें VIDEO

वायरल हुए वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि रातों-दिन जेल के बाहर वाहनों का आना-जाना होता था. 12 जुलाई को उन्नाव जिले के कुछ लोग सीतापुर कारागार में बंद भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से देर रात मुलाकात करने पहुंचे.

लखनऊ: उन्नाव गैंगरेप कांड के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर सीतापुर जिला कारागार में बंद हैं. इसी कारागार के कुछ चौंकाने वाले वीडियो सामने आ रहे हैं. जिसमें साफ नजर आ रहा है कि विधायक से मिलने का कोई भी समय निश्चित नहीं था. दिन हो या रात जेल प्रशासन विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से मुलाकात करने आने वालों लोगों की मुलाकात विधायक से कराते थे.

वायरल हुए वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि रातों-दिन जेल के बाहर वाहनों का आना-जाना होता था. 12 जुलाई को उन्नाव जिले के कुछ लोग सीतापुर कारागार में बंद भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से देर रात मुलाकात करने पहुंचे. जेल प्रशासन ने सारे नियम और कानून को ताक पर रखकर मुलाकात कराए जाने का इंतजाम भी कर दिया गया.

मीडिया को हुई जानकारी
उन्नाव से आये हुए लोग विधायक से मुलाकात करने जेल के अन्दर जा ही रहे थे कि तभी इसकी जानकारी मीडिया के लोगों को हो गई, और वह जिला कारागार पर पहुंच गए. मीडिया को देखकर जेल के अधिकारियों से लेकर भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से मुलाकात करने आए लोगों के पैरों तले जमीन खिसक गई और वह आनन-फानन में अपनी गाड़ी में बैठकर जेल परिसर से रफूचक्कर हो गए. बताया जाता है कि इस पूरे मामले के बाद डीएम और एसपी भी जिला कारागार पहुंचे थे.

वायरल हुए दो अलग-अलग वीडियो
उन्नाव के चर्चित विधायक कुलदीप सेंगर से सीतापुर जिला जेल में मिलने वाले लोग किस तरह से जेल में आवाजाही करते थे. इससे जुड़े दो अलग अलग वीडियो सामने आए हैं.
पहला वीडियो पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे से कुछ रोज पहले का है जब विधायक से मिलने के लिए जेल पहुंचे उन्नाव के भगवंत नगर से पालिका परिषद चैयरमैन रिंकू शुक्ला को बताया जा रहा है. जेल से बाहर आते समय चेयरमैन बाकायदा जेल के एक सिपाही को नोट देकर खुश करता दिखाई दे रहा है.

जेल में विधायक से होती थी मुलाकात
दूसरे वीडियो में उन्नाव जिले की किसी ग्राम पंचायत के प्रधान राकेश मिश्रा बीती बुधवार को जेल में विधायक से मिलने पहुंचते है. लेकिन काफी देर तक रुकने के बाद जब प्रधान जी को मिलने नहीं दिया गया, तो आख़िर में एक जेल प्रशासन का कर्मचारी आकर प्रधान से कहता है कि विधायक जी ने कहा है कि अभी मामला बहुत सेंसटिव है 15 दिन तक कोई नहीं मिल सकता है.

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला
सुप्रीम कोर्ट ने उन्नाव गैंगरेप केस में बड़ा फैसला दिया है. कोर्ट ने सीबीआई से कहा कि पीड़िता व अन्य चोटिल को दिल्ली एम्स स्थानांतरित किया जा सकता है. सीबीआई ने इसके लिए हामी भर दी है. SG ने पीड़ित की मेडिकल रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को दी. कोर्ट को KGMC हॉस्पिटल ने बताया कि पीड़िता को एयरलिफ्ट किया जा सकता है. पीड़िता के वकील को भी एयरलिफ्ट किया सकता है.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर पीड़िता परिवार चाहे तो हम एयरलिफ्ट करने का आदेश दे सकते हैं. ट्रायल कोर्ट केस की प्रतिदिन सुनवाई कर 45 दिनों में इसका निपटारा करेगी. ट्रक दुर्घटना मामले की जांच सीबीआई 1 सप्ताह में पूरा करेगी. सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता को 25 लाख का मुवावजा देने का आदेश दिया. साथ ही अब इन मामलों की सुनवाई रोजाना की जाएगी. सीजेआई ने निर्देश दिया कि सीआरपीएफ पीड़िता के परिवार को सुरक्षा मुहैया कराए.