मदरसे के छात्रों से नहीं लगवाए ‘जय श्री राम’ के नारे, UP सरकार ने दी सफाई

प्रमुख सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने इस बात को माना है कि झड़प उस वक्त हुई जब बच्चे किक्रेट खेल रहे थे.

उन्नाव: यपी के उन्नाव जिले में एक मदरसे के छात्रों से जबरदस्ती ‘जय श्री राम’ के नारे लगवाए जाने की बात से उप्र सरकार ने इंकार किया है. एक बयान में कहा है कि सरकार की छवि को धूमिल करने के लिए यह खबर गलत तरीके से फैलाई गई है.

प्रमुख सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने इस बात को माना है कि झड़प उस वक्त हुई जब बच्चे किक्रेट खेल रहे थे, लेकिन छात्रों से धार्मिक नारे लगवाए जाने की बात से उन्होंने इंकार किया है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की छवि को धूमिल करने और सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने के लिए यह खबर गलत तरीके से फैलाई गई है.

ये था मामला

रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार की दोपहर को नमाज पढ़ने के बाद जब ये बच्चे क्रिकेट खेलने के लिए गए तो चार लोगों ने उन्हें पीटा और उन पर ‘जय श्री राम’ बोलने का दबाव डाला. बच्चों के कपड़े फाड़े गए और उनकी साइकिलों को तोड़ दिया गया.

इसके बाद ये बच्चे मदरसे को लौट आए और पूरी बात बताई जिसके बाद पुलिस को बुलाया गया. जामा मस्जिद के इमाम के मुताबिक, इस घटना में बजरंग दल के लोगों का एक समूह शामिल था.

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था और तीन आरोपियों की पहचान भी उनके फेसबुक अकांउट से कर ली गई. इन आरोपियों ने कथित तौर पर अपने सोशल मीडिया अकांउट पर खुद की पहचान बजरंग दल के सदस्यों के रूप में बताई. हालांकि, इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें- VIDEO: क्रिकेट खेल रहे मदरसे के छात्रों ने नहीं बोला ‘जय श्री राम’, तो अराजक तत्वों ने बल्ले से पीटा