UP सरकार बताएगी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले उपाय, इन उपायों से दूर रहेगा Coronavirus

पूरे दिन केवल गर्म पानी ही पियें. इसके अलावा आयुष मंत्रालय (AYUSH Mantralay) की सलाह के अनुसार, रोज कम-से-कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम और ध्यान करें. खाना बनाते समय हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों का प्रयोग करें.
How to increase immunity, UP सरकार बताएगी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले उपाय, इन उपायों से दूर रहेगा Coronavirus

कोरोनावायरस से बचाव के लिए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity Power) बढ़ाने के उपायों का प्रचार करने जा रही है. प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने लोगों को Covid-19 से देखभाल के लिए केन्द्र सरकार के आयुष मंत्रालय (AYUSH Mantralay) की बतायी गयी सलाहों पर अमल करने को कहा है.

इम्युनिटी पॉवर ही बचाएगी कोरोनावायरस से

इसके लिए मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी (Rajendra Kumar) ने सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं. इन निर्देशों में आयुष मंत्रालय, भारत सरकार ने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के जो उपाय बताए हैं, उनके बारे में बताया गया है. कोरोनावायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए अभी कोई दवा नहीं बनी है. ऐसे में शरीर को स्वस्थ बनाये रखने में रोग प्रतिरोधक क्षमता की मुख्य भूमिका होगी. रोगों से बचने का आयुर्वेदिक तरीका मुख्य रूप से दिनचर्या और मौसम पर अधारित है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

लिखे गये उपायों में बताया गया है कि पूरे दिन केवल गर्म पानी ही पियें. इसके अलावा आयुष मंत्रालय की सलाह के अनुसार, रोज कम-से-कम 30 मिनट योगासन, प्राणायाम और ध्यान करें. खाना बनाते समय हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन जैसे मसालों का प्रयोग करें.

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक उपाय:

  1. सुबह 10 ग्राम (एक चम्मच) च्यवनप्राश लें. मधुमेह (Diabetes) के रोगी शुगर फ्री च्यवनप्राश लें. तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सोंठ (सूखी अदरख) और मुनक्का से बनी हर्बल टी-काढ़ा (Herbal Tea) दिन में एक से दो बार पियें. स्वाद के अनुसार, इसमें गुड़ या ताजा नींबू मिला सकते हैं. गोल्डन मिल्क यानि कि 150 मिलीलीटर गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी चूर्ण दिन में एक से दो बार लें.
  2. सुबह और शाम नाक के दोनों छिद्रों में तिल या नारियल का तेल या घी लगायें. 1 चम्मच तिल-नारियल तेल को लेकर दो से तीन मिनट तक कुल्ले की तरह मुंह में घुमायें. उसके बाद उसे कुल्ले की तरह थूक दें, फिर गरम पानी से कुल्ला करें. ऐसा दिन में एक से दो बार करें.
  3. गले की खराश को दूर करने के लिए दिन में कम-से-कम एक बार, पुदीने के पत्ते और अजवाइन को पानी में डाल कर, उसे गर्म कर भांप लें. खांसी या गले में खराश होने पर लौंग के चूर्ण में गुड़ या शहद मिला कर दिन में दो या तीन बार लें.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts