कानपुर IG का पुलिसकर्मियों को फरमान- टीबी से पीड़ित एक बच्चा लें गोद, मुहैया कराएं भोजन-दवाई

आदेश में कहा गया है कि जब बच्चा टीबी की बीमारी से बाहर निकल जाएगा तो नये बच्चे को गोद लिया जाएगा.

उत्तर प्रदेश के कानपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) मोहित अग्रवाल ने पुलिसकर्मियों के लिए एक अनोखा फरमान जारी किया है. आईजी अग्रवाल ने सभी ASPs, COs, SHOs/SOs को आदेश दिया है कि वो टीबी से पीड़ित एक बच्चा गोद लें.

आईजी द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि ‘गोद लिए गए बच्चों से 15 दिन में एक बार संबंधित अधिकारी मिलेगा और उनको 15 दिन का पौष्टिक आहार (सेव, केला, अनार, चना आदि) उपलब्ध कराएगा. साथ ही यह सुनिश्चित करेगा कि बच्चा समय से टीबी की दवाई खा रहा है.’

Kanpur IG, कानपुर IG का पुलिसकर्मियों को फरमान- टीबी से पीड़ित एक बच्चा लें गोद, मुहैया कराएं भोजन-दवाई

‘पुलिस की छवि में आएगा सुधार’
आदेश में आगे कहा गया है कि ‘जब बच्चा टीबी की बीमारी से बाहर निकल जाएगा तो नये बच्चे को गोद लिया जाएगा. इस योजना से जहां टीबी उन्मूलन में मदद मिलेगी, वहीं पुलिस की छवि में सकारात्मक सुधार आएगा. साथ ही पुलिस की गांव में मोबिलिटी बढ़ेगी और जनता का पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ेगा.’

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही कानपुर स्थित छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय के शिक्षक और छात्रों ने टीबी बीमारी से ग्रसित 50 बच्चों को गोद लेने की घोषणा की थी. कहा गया था कि इन बच्चों को जागरूक किया जाएगा. दवाओं के साथ समय-समय पर पोषक आहार भी दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें-

यौन उत्पीड़न मामले में गिरफ्तार हो सकते हैं चिन्मयानंद, बयान दर्ज कराने कोर्ट पहुंची पीड़िता

चित्तौड़गढ़ में फंसे 350 बच्चों पर TV9 भारतवर्ष के सवालों का जवाब नहीं दे पाए ADM, काट दिया फोन

प्रशासन ने अभी तक नहीं दिया राशन का सामान, चित्तौड़गढ़ के स्कूल में फंसे टीचर ने बताया हाल