ATS ने गाजियाबाद से गिरफ्तार किए दो संदिग्ध, पाकिस्तान में अपने हैंडलर्स को भेजते थे पैसे

एटीएस ने एक बयान जारी कर कहा, "दोनों ने पिछले डेढ़ महीने में धोखाधड़ी की लॉटरी स्कीम के जरिए भारतीय नागरिकों को धोखा देकर लगभग 15 लाख रुपये जुटाए थे. यह पैसा पाकिस्तान में उनके हैंडलर्स को भेजा गया."
Uttar Pradesh Anti-Terrorist Squad, ATS ने गाजियाबाद से गिरफ्तार किए दो संदिग्ध, पाकिस्तान में अपने हैंडलर्स को भेजते थे पैसे

उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) ने सोमवार को गाजियाबाद के दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जो भारतीय नागरिकों से ठगी कर पैसे इकट्ठे कर कथित रूप से अपने पाकिस्तानी हैडलर्स को भेज रहे थे. अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों की पहचान जय प्रकाश रुहेला और धीरुद्दीन चौधरी के रूप में हुई है और दोनों को एटीएस की नोएडा इकाई द्वारा पकड़ा गया था, जो सीमा पार उनके संदिग्ध लिंक की जांच कर रहे थे.

एटीएस ने एक बयान जारी कर कहा, “दोनों ने पिछले डेढ़ महीने में धोखाधड़ी की लॉटरी स्कीम के जरिए भारतीय नागरिकों को धोखा देकर लगभग 15 लाख रुपये जुटाए थे. यह पैसा पाकिस्तान में उनके हैंडलर्स को भेजा गया. अब तक उनके 12 बैंक खातों की जांच की जा चुकी है. हालांकि अभी भी उनके कई बैंक खातों जांच की जाना बाकी है. एजेंसी के मुताबिक, “उनके मोबाइल फोन की पड़ताल करने पर पता चला कि उनके पाकिस्तानी हैंडलर्स को लगभग 20 लाख रुपये भेजे गए हैं.”

शामली जिले के मूल निवासी रुहेला को राज नगर एक्सटेंशन में उसके घर से उठाया गया, जबकि चौधरी, जो मुजफ्फरनगर का रहने वाला है, उसे साहिबाबाद इलाके से गिरफ्तार किया गया. शुरुआती जांच के दौरान, रुहेला ने बताया कि वह 10 पाकिस्तानी हैंडलर्स के संपर्क में था. एटीएस का कहना है कि इनकी गिरफ्तारी ने बिहार, छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल पाकिस्तानी हैंडलर्स के लिए काम करने वाले संदिग्ध लोगों तक उनकी पहुंच आसान कर दी है.

ये भी पढ़ें: असम में टेस्ट ब्लास्ट कर दिल्ली को बनाने वाले थे टारगेट…पुलिस ने गिरफ्तार किए ISIS के तीन आतंकी

Related Posts