CAA के खिलाफ दुष्प्रचार द्रौपदी के ‘चीरहरण’ जैसा, लखनऊ में बोले सीएम योगी

सीएम योगी ने कहा, "वोट बैंक के लिए दुष्प्रचार कर रही सपा, बसपा और कांग्रेस के सहभागी नहीं बन सकते हैं. लोगों को इस कानून के बारे में बताने के लिए घर-घर जाएंगे."

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में रैली को संबोधित किया. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा के लिए देश सबसे पहले है. देश की सुरक्षा के लिए सीएए लाया गया है. इस कानून के खिलाफ दुष्प्रचार द्रौपदी के चीरहरण के समान है.

लखनऊ के बंगला बाजार स्थित रामकथा पार्क में रैली को संबोधित हुए सीएम योगी ने कहा, “वोट बैंक के लिए दुष्प्रचार कर रही सपा, बसपा और कांग्रेस के सहभागी नहीं बन सकते हैं. लोगों को इस कानून के बारे में बताने के लिए घर-घर जाएंगे.”

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने राष्ट्रहीत में कदम उठाए हैं. जो काम आजादी के समय पर किया जाना चाहिए, वह अब मोदी सरकार करने का काम कर रही है.

वहीं, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि ‘सीएए के खिलाफ प्रचार किया जा रहा है कि इसकी वजह से इस देश के मुसलमानों की नागरिकता चली जाएगी. ममता दीदी, राहुल बाबा, अखिलेश यादव चर्चा करने के लिए सार्वजनिक मंच तलाश लो, हमारा स्वतंत्र देव चर्चा करने के लिए तैयार है.

उन्होंने कहा कि सीएए की कोई भी धारा, मुसलमान छोड़ दीजिए, अल्पसंख्यक छोड़ दीजिए किसी भी व्यक्ति की नागरिकता ले सकती है तो वह मुझे दिखा दीजिए.


शाह ने कहा, “नेहरू जी ने कहा था कि केंद्रीय राहत कोष का उपयोग शरणार्थियों को राहत देने के लिए करना चाहिए. इनको नागरिकता देने के लिए जो करना चाहिए वह करना चाहिए, लेकिन कांग्रेस ने कुछ नहीं किया.”

उन्होंने कहा कि दो साल पहले जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के अंदर देश विरोधी नारे लगे. मैं जनता से पूछने आया हूं कि जो भारत माता के एक हजार टुकड़े करने की बात करें, उसको जेल में डालना चाहिए या नहीं. मोदी जी ने उनको जेल में डाला और ये राहुल ऐंड कंपनी कह रही है कि यह बोलने की स्वतंत्रता का अधिकार है.

ये भी पढ़ें-

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने अवंतीपोरा में दो आतंकियों को किया ढेर, दो सुरक्षाकर्मी शहीद

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में मार गिराए दो आतंकी, एक SPO शहीद

BJP विधायक ने दिया विवादित बयान, बोले- मस्जिद में छिपाए जाते हैं हथियार