योगी सरकार का बड़ा फैसला, 17 जाति SC कैटेगरी में शामिल

राज्यपाल ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा अधिनियम 1994 की धारा 13 के अधीन शक्ति का प्रयोग करके इसमें संशोधन किया है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने 17 अति पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति की कैटगरी में शामिल करने का आदेश जारी कर दिया है. उत्तर प्रदेश सरकार के इस बड़े फैसले के बाद 17 जातियों को अब अनुसूचित जातियों का फायदा मिलेगा.

इन जातियों में कहार, कश्यप, केवट, मल्लाह, निषाद, कुम्हार, प्रजापति, धीवर, बिन्द, भर, राजभर जैसी 17 जातियों को SC जातियों में शामिल किया गया है. सूबे के सभी जिलाधिकारियों को इन जातियों के परिवारों को प्रमाण दिये जाने का आदेश दिया जा चुका है.

राज्यपाल ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा अधिनियम 1994 की धारा 13 के अधीन शक्ति का प्रयोग करके इसमें संशोधन किया है. राज्य सरकार ने यह फैसला अदालत के उस आदेश के अनुपालन में किया है, जिसमें उसने अति पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति का जन्म प्रमाण पत्र जारी करने को कहा था.

लंबे समय से इन जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने की कवायद कई सरकारें भी कर चुकी हैं पर उनको इसमें सफलता नहीं मिल सकी थी.

ये भी पढ़ें- सवा दो सौ स्क्वायर फीट के घर में रहता है कचौड़ी बेचकर ’60 लाख’ कमाने वाला व्यापारी

ये भी पढ़ें- जेल से वीडियो वायरल होने के बाद सख्त हुई योगी सरकार, 21 जेलर और 44 डिप्टी जेलर के किए ट्रांसफर