उत्तर प्रदेश: घोड़ी से उतर मेडिकल कॉलेज के लिए धरने पर बैठ गया दूल्हा

अनशन की अगुआई कर रहे 'सत्यमेव जयते' संगठन के अध्यक्ष विकास यादव ने बताया कि "दूल्हे के धरने पर बैठने के बाद जिलाधिकारी ने 20 दिनों के भीतर मुख्यमंत्री से मुलाकात करवाने का आश्वासन देकर सोमवार सुबह अनशन खत्म करवा दिया है."

उत्तर प्रदेश में महोबा के रहने वाले रविवार देर रात उस समय भौचक रह गए, जब एक दूल्हा घोड़ी से उतर कर मेडिकल कॉलेज की मांग को लेकर अनशन कर रहे युवाओं के साथ जा बैठा. महोबा के आल्हा चौक पर पिछले 10 दिनों से ‘सत्यमेव जयते’ नामक संगठन से जुड़े कुछ युवा कार्यकर्ता जिले में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की मांग को लेकर अनशनरत थे.

रविवार शाम कुरारा कस्बे से महोबा शहर बारात आई थी. जब 11 बजे रात को घोड़ी चढ़ा दूल्हा अरविंद कन्या पक्ष के दरवाजे द्वारचार की रश्म के लिए अनशन स्थल से गुजरा तो उससे रहा न गया और वह घोड़ी से उतर कर कुछ देर के लिए अनशनरत युवाओं के साथ बैठ गया. इस बीच बाराती भी ठहर गए. इस दौरान दूल्हे ने कहा कि “जब मेडिकल कॉलेज स्वीकृत हो चुका था, फिर अब उसे निरस्त करने का क्या औचित्य है.”

मालूम हो कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने प्रदेश में 14 मेडिकल कॉलेज स्थापित किए जाने को हरी झंडी दी है. जिनमें महोबा भी शामिल है. लेकिन जिला अस्पताल में 200 बैड की व्यवस्था न होने के कारण अब मामला लटका हुआ है.

अनशन की अगुआई कर रहे ‘सत्यमेव जयते’ संगठन के अध्यक्ष विकास यादव ने सोमवार को बताया कि “दूल्हे के धरने पर बैठने के बाद जिलाधिकारी अवधेश कुमार तिवारी ने 20 दिनों के भीतर मुख्यमंत्री से मुलाकात करवाने का आश्वासन देकर आज (सोमवार) सुबह अनशन खत्म करवा दिया है.”

ये भी पढ़ें: स्वीडन के राजा गुस्ताफ और रानी सिल्विया ने की जामा मस्जिद की सैर, देखें तस्वीरें