सोनभद्र हत्याकांड में मुआवजा राशि 4 से 18.5 लाख करने के बाद सपा-कांग्रेस पर भड़के CM योगी

CM योगी आदित्यनाथ रविवार को सोनभद्र पहुंचकर पीड़ित परिवारों से मुलाकात की. उन्होंने हर मृतक के परिवार को 18.5 लाख और घायलों को 2.5 लाख रुपये देने की घोषणा की है.
yogi aditiyanath sonbhadra, सोनभद्र हत्याकांड में मुआवजा राशि 4 से 18.5 लाख करने के बाद सपा-कांग्रेस पर भड़के CM योगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को सोनभद्र पहुंचे. उन्‍होंने उम्‍भा गांव में जाकर हत्याकांड में पीड़ित परिवारों से मुलाकात की. इस दौरान उन्‍होंने मृतकों के प्रत्येक परिवार वालों को 18.50 लाख रुपए देने की घोषणा की. साथ ही घायलों को 2.5 लाख रुपए देने का ऐलान किया.

मुलाकात के बाद सीएम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके घटना का ठीकरा समाजवादी पार्टी और कांग्रेस पर फोड़ा. सीएम ने कहा कि कांग्रेस की नीतियों के चलते यह नौबत आई तो वहीं इस घटना में समाजवादी पार्टी के नेता के शामिल होने की बात कही. उन्होंने इस घटना को पूरी तरह से राजनीतिक षड्यंत्र बताया.

‘जमीन का यह खेल 1952-53 से खेला गया है’

सीएम योगी ने कहा कि सोनभद्र में आदिवासियों की जमीन कांग्रेस के तत्कालीन एमएलसी के ट्रस्ट के नाम पर 1955 में कर दी गई. यह कैसे हुआ इसका परीक्षण भी जांच कमेटी करेगी. 1989 में ट्रस्ट की जमीन परिवारजनों के नाम पर कर दिया. कांग्रेस के पापों के चलते यह घटना हुई. उन्होंने कहा कि जमीन का यह खेल 1952-53 से खेला गया है. हम लोग इसे सामान्य घटना मान रहे थे.

गरीबों के हक पर डकैती डालने वालों को नहीं बख्शा जाएगा

यूपी सीएम ने कहा कि सोनभद्र में जमीन की लूट के लिए जो घटना हुई इसकी जांच के लिए अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित तीन सदस्यीय कमेटी रिपोर्ट देगी. कांग्रेस के लोगों ने सोनांचल में जमीनों की डकैती डाली. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का चेहरा आदिवासी विरोधी है. गरीबों के हक पर डकैती डालने वालों को नहीं बख्शा जाएगा.

मुख्‍यमंत्री ने गठित की टीम

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस गड़बड़ी की जांच के लिए राजस्व विभाग के प्रमुख सचिव की अध्यक्षता में एक समिति गठित की गई है जो 10 दिन में रिपोर्ट देगी. इसके अलावा इस घटना में पुलिस की तरफ से कहां-कहां लापरवाही हुई है, इसकी जांच वाराणसी जोन के अपर पुलिस महानिदेशक को सौंपी गई है.

CM योगी ने कहा कि उम्भा समेत दर्जनों गांव में जनजातीय लोगों की जमीनें हड़पे जाने के प्रकरण सामने आए हैं. सरकार आने वाले समय में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिये भी प्रभावी कार्रवाई करेगी.

Related Posts