STF की पूछताछ में विकास दुबे ने कबूली थी BJP विधायकों से कनेक्शन की बात, 2017 में लगा था हत्या का आरोप

साल 2017 में विकास दुबे (Vikas Dubey) ने एसटीएफ की इंटेरोगेशन में दो बीजेपी विधायकों से संबंध होने की बात कबूली थी. उस समय दुबे को STF ने एक हत्या के आरोप में लखनऊ से उठाया था.
Vikas Dubey confessed to connection with BJP MLAs, STF की पूछताछ में विकास दुबे ने कबूली थी BJP विधायकों से कनेक्शन की बात, 2017 में लगा था हत्या का आरोप

कानपुर एनकाउंटर (Kanpur Encounter) का मुख्य दोषी और गैंगस्टर विकास दुबे (Vikas Dubey) तो उस रात से ही फरार है, लेकिन पुलिस (UP Police) अब उसकी राजनीतिक कुंडली खंगालने में लगी है. योगी सरकार ने आदेश दिया है कि उससे संबंध रखने वाले राजनेताओं के नाम की एक लिस्ट तैयार की जाए.

इसी कड़ी में सामने आया है कि साल 2017 में विकास दुबे ने एसटीएफ की इंटेरोगेशन में दो बीजेपी विधायकों से संबंध होने की बात कबूली थी. उस समय दुबे को STF ने एक हत्या के आरोप में लखनऊ से उठाया था.

इन बीजेपी विधायकों ने की विकास की मदद?

पूछताछ के दौरान विकास दुबे ने कहा कि उस पर हत्या का आरोप एक षडयंत्र के तहत लगाया गया है. साथ ही उसने बताया कि तब के भाजपा विधायक भगवती सागर (Bhagwati Sagar) और अभिजीत सांगा (Abhijeet Sanga), राजेश कमल, जिला पंचायत अध्यक्ष गुड्डन कटियार ने उसका बचाव किया था और दूसरे पक्ष से बात भी कि थी.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

“फोन पर और आमने-सामने भी होती थी मुलाकात”

उसने बताया कि इन नेताओं से मेरी मुलाकात होती रहती थी, फोन पर भी बात होती थी. दुबे ने कहा कि पहले गांव के लोगों ने इस केस में हमारी मदद की और फिर हमने भी प्रयास किया और इन लोगों ने भी मदद की. पूरी जनता जानती है मुझे इस मामले में फंसाया गया है. मालूम हो की इसी दौरान विकास दुबे पर आर्म्स एक्ट भी लगा था.

BJP विधायक की सफाई

वहीं भाजपी विधायक भगवती सागर ने विकास दुबे से संबंध होने की बात से इनकार किया है. उन्होंने कहा कि, “मैं जब बीएसपी में था तब विकास दुबे भी बीएसपी में था. पार्टी की मीटिंग्स में उससे मिलना होता था. मेरी कॉल डिटेल निकलवाकर दिखवा ली जाय.”

‘2017 में मुझे चुनाव हरवाना चाहता था विकास दुबे’

विकास दुबे की मदद करने पर विधायक ने कहा, “मैंने ने उसकी मदद की और न ही कभी चुनाव में उसका इस्तेमाल किया, बल्कि 2017 में विकास दूबे ने मुझे चुनाव में हरवाने का प्रयास किया था.” मालूम हो कि साल 2017 में अभिजीत सिंह सांगा और भगवती सागर भाजपा में शामिल हुए थे.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts