बीच सड़क पर रोक महिला से किया दुष्कर्म, पति पहुंचा थाने तो पुलिस ने तोड़ दी उंगलियां

पीड़ित और उसकी पत्नी एक दोपहिया वाहन से मैनपुरी की ओर जा रहे थे.  कार सवार तीन बदमाशों ने दंपति को पकड़ लिया और पत्नी का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया.

मैनपुरी: उत्तर प्रदेश पुलिस की बर्बरता की एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है. एक व्यक्ति अपनी पत्नी के अपहरण और उसके साथ किए गए दुष्कर्म के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने पुलिस थाने पहुंचा तो पुलिसकर्मियों ने कथित तौर पर उसे थर्ड-डिग्री की यातना दी. यह घटना मैनपुरी जिले में हुई, जो समाजवादी दिग्गज मुलायम सिंह यादव का संसदीय क्षेत्र है.

खबरों के मुताबिक, यह घटना बिछवां पुलिस थाने के अंतर्गत उस समय हुई, जब पीड़ित और उसकी पत्नी एक दोपहिया वाहन से मैनपुरी की ओर जा रहे थे.  कार सवार तीन बदमाशों ने दंपति को पकड़ लिया और पत्नी का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म किया. उन्होंने महिला के पति को तब तक पीटा, जब तक कि वह बेहोश नहीं हो गया. उसकी पत्नी की बाद में घटनास्थल से कुछ किलोमीटर दूर मिली.

जब महिला के पति को होश आया और उसने पुलिस हेल्पलाइन नंबर डायल किया, तो मौके पर पहुंचे अधिकारी ने उसपर झूठी शिकायत दर्ज करने का आरोप लगा दिया. साथ ही पुलिसकर्मियों ने उसकी पिटाई की और उस पर झूठे आरोप भी लगाए. पुलिसकर्मियों ने उसकी दो उंगलियां भी तोड़ दीं. उन्होंने पीड़ित पर ‘अपनी पत्नी की हत्या’ करने का आरोप लगाया और कहा कि उसने पुलिस को झूठी शिकायत दर्ज कराई है.

उसकी पत्नी बाद में किसी तरह पुलिस थाने पहुंची और अपनी व्यथा सुनाई. हालांकि पुलिस ने महिला की शिकायत पर अपहरण और यौन संबंध का एक मामला दर्ज कर लिया है, लेकिन उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है, जिन्होंने उसके पति को यातना दी. जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अपने जिले में घटी इस तरह की चौंकाने वाली घटना को स्वीकारने और उसकी जिम्मेदारी लेने से कतरा रहे हैं.

ये भी पढ़ें: केरल में बच्चों के यौन शोषण मामले में पादरी गिरफ्तार, उत्पीड़न से तंग आकर बच्चे ने सुनाई आपबीती