यूपी: ‘प्याज खरीदने की नहीं है इसकी औकात’ …और लड़ गईं महिलाएं, अस्पताल में भर्ती

नेहा प्याज खरीदने के लिए दुकानदार से मोल भाव कर रही थी. इसी दौरान उसकी पड़ोसन दीप्ति...
Onion, यूपी: ‘प्याज खरीदने की नहीं है इसकी औकात’ …और लड़ गईं महिलाएं, अस्पताल में भर्ती

उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले में प्याज के दाम को लेकर महिलाओं के बीच मारपीट का मामला सामने आया है. यहां पर बुधवार को प्याज खरीदते समय नेहा और दीप्ति में लड़ाई हो गई. फिलहाल ये दोनों अस्पताल में भर्ती हैं.

अमरोहा जिले के कालाखेरी गांव में बुधवार सुबह को नेहा प्याज खरीदने के लिए दुकानदार से मोल भाव कर रही थी. इसी दौरान उसकी पड़ोसन दीप्ति भी प्याज खरीदने के लिए दुकान पर आ गई.

बहस करते-करते लड़ पड़ीं महिलाएं
दीप्ति ने दुकानदार ने कहा कि ‘ये (नेहा) प्याज खरीदने में आर्थिक रूप से सक्षम नहीं है. आप अपना समय बर्बाद मत कीजिए.’ नेहा को दीप्ति की यह बात बुरी लगी और उसने पलटकर उसका जवाब दिया. इसके बाद दोनों में बहस शुरू हो गई.

देखते ही देखते दोनों महिलाएं आपस में लड़ पड़ीं. लड़ाई में दोनों को चोट आई. इसी बीच उनके घरवाले भागे-भागे आए और वो भी लड़ने लगे. मामला धीरे-धीरे शांत हुआ. नेहा और दीप्ति को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है. पुलिस ने दोनों पक्षों का मिलाकर कुल 6 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इसके बाद सभी आरोपियों को लोकल कोर्ट ले जाया गया. कोर्ट ने इन सभी को जमानत दे दी है.

नवरात्र के बाद फिर महंगा हुआ प्याज
गौरतलब है कि नवरात्र के बाद फिर प्याज का दाम आसमान छूने लगा है. प्याज की खपत बढ़ गई है, जबकि प्याज के निर्यात पर प्रतिबंध को लेकर महाराष्ट्र के किसानों द्वारा किए जा रहे विरोध-प्रदर्शन के कारण मंडियों में प्याज की आवक कम हो रही है

देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाके में बुधवार को प्याज का खुदरा दाम 50-70 रुपये प्रति किलो था. वहीं, दिल्ली की आजादपुर मंडी में प्याज का थोक भाव 30-45 रुपये प्रति किलो था.

देश का सबसे बड़ा प्याज उत्पादक क्षेत्र महाराष्ट्र के नासिक में प्याज का थोक भाव 32-38 रुपये प्रति किलो था. नासिक के प्याज कारोबारी महेश ने बताया कि बुधवार को प्याज के थोक भाव में दो-चार रुपये प्रति किलो का इजाफा हुआ. वहीं, दिल्ली की आजादपुर मंडी में दो दिनों में प्याज के थोक भाव में पांच रुपये प्रति किलो से ज्यादा की वृद्धि हुई है.

ये भी पढ़ें-

अर्थव्यवस्था बचाने के लिए PAK ने खेला दांव, चीनी कंपनियों को ग्वादर में दिया 23 साल तक टैक्स से छूट

दिल्ली-NCR में 15 अक्टूबर से डीजल जनरेटर के इस्तेमाल पर बैन, EPCA ने जारी की गाइडलाइन

ज्यादा बच्चा पैदा कर रहे धर्म विशेष के लोग, इसलिए वे बन रहे आतंकवादी: रामविलास वेदांती

Related Posts