योगी सरकार का फैसला, UP आने वाले प्रवासी मजदूरों से नहीं लिया जाएगा ट्रेन का किराया

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने सख्त निर्देश जारी किए हैं कि कोई भी प्रवासी (Migrant) पैदल न आए और न ही दोपहिया वाहनों का उपयोग करे. आने वाले दिनों में उन्हें उनके कौशल के अनुसार काम दिया जाएगा.
special trains in lockdown, योगी सरकार का फैसला, UP आने वाले प्रवासी मजदूरों से नहीं लिया जाएगा ट्रेन का किराया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने अब कहा है कि राज्य के अनुरोध पर जो विशेष ट्रेनें चल रही हैं, उनके लिए प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) से कोई किराया नहीं लिया जाएगा. राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी (Avnish Awasthi) ने कहा, “मुख्यमंत्री ने तय किया है कि राज्य के अनुरोध पर चलने वाली ट्रेनों से आने वाले प्रवासी मजदूरों से कोई पैसा नहीं लिया जाएगा. इसके लिए रेलवे को अग्रिम (Advance) भुगतान दिया जाएगा.”

दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को दिया जाएगा काम

उन्होंने आगे कहा कि अन्य राज्यों से आने वाले सभी लोगों का डेटा इकठ्ठा किया जा रहा है और आने वाले दिनों में उन्हें उनके कौशल के अनुसार काम दिया जाएगा. जिन लोगों का मेडिकल टेस्ट हो गया है, उन्हें खाने के पैकेट देकर होम क्वारंटीन (Quarantine) के लिए भेजा जा रहा है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

उन्होंने कहा कि गुरुवार तक 318 ट्रेनें दूसरे राज्यों से 3.84 लाख प्रवासी मजदूरों को राज्य वापस ला चुकी हैं, जबकि रोडवेज बसों के जरिए छात्रों समेत 72,637 लोगों को लाया गया है.

प्रवासी मजदूरों को पैदल चलने से किया मना

हजारों प्रवासी मजदूर अब भी पैदल और साइकिल पर अपने घर लौट रहे हैं. मुख्यमंत्री ने सख्त निर्देश जारी किए हैं कि कोई भी प्रवासी पैदल न आए और न ही दोपहिया वाहनों का उपयोग करे. इसी के साथ मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से उन लोगों पर 100 रुपये का जुर्माना लगाने के लिए भी कहा जो मास्क (Mask) नहीं पहन रहे हैं या अपने चेहरे को नहीं ढंक रहे हैं.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts