‘नीच जाति का हमारे साथ खाएगा तो मरेगा’, अगड़ी जाति के व्‍यक्तियों की पिटाई से दलित की मौत

टिहरी में हुई घटना से आक्रोशित रिश्‍तेदार देहरादून में प्रदर्शन कर न्‍याय की मांग कर रहे हैं.

नई दिल्‍ली: दलित जाति में पैदा होकर अगड़ी जाति के व्‍यक्तियों संग खाना खाने की कीमत एक युवक को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी. मामला उत्‍तराखंड के टिहरी जिले का है. पीड़‍ित जीतेंद्र दास के परिवार का आरोप है कि 26 अप्रैल को नैनबाग तहसील में एक शादी के दौरान ऊंची जाति के कुछ लोगों ने उसपर हमला किया था. घायल दास को स्‍थानीय अस्‍पताल ले जाया गया था, मगर 28 अप्रैल को उसे देहरादून के श्री महंत इंद‍िरेश हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया. यहीं पर उसने दम तोड़ दिया. डीजी (लॉ एंड ऑर्डर) ने कहा कि मामले में आरोपी 7 में से तीनको गिरफ्तार कर लिया गया है.

जीतेंद्र की मौत के बाद उसके घरवाले और रिश्‍तेदार उस अस्‍पताल के बाहर धरने पर बैठ गए, जहां लाश पोस्‍टमॉर्टम के लिए लाई गई थी. जीतेंद्र की बहन ने एक अंग्रेजी अखबार को बताया कि एक दलित की शादी में यह घटना हुई. पूजा ने कहा, “हमारे रिश्‍तेदार की शादी थी. मेरे भाई ने ये गलती कर दी कि उसने उसी काउंटर से खाना लिया जहां ऊंची जाति वाले खा रहे थे. फिर वो उन्‍हीं के पास पड़ी कुर्सी पर बैठ गया. इससे उन्‍हें (अगड़ी जाति के लोग) गुस्‍सा आ गया. वो बोले ये नीच जाति का हमारे साथ नहीं खा सकता. खाएगा तो मरेगा.

SC/ST एक्‍ट लगा पर अब तक गिरफ्तारी नहीं

पूजा इसके बाद बेहोश हो गई. गांववाले यह धमकी दे रहे हैं कि जीतेंद्र को न्‍याय मिले वर्ना वे मुख्‍यमंत्री आवास का घेराव करेंगे. प्रदर्शनकारियों से निपटने को भारी संख्‍या में पुलिस तैनात की गई है. नैनबाग पंचायत के एक सदस्‍य ने अखबार से कहा कि पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने में बहुत समय लिया.

दूसरी तरफ, नरेंद्र नगर (टिहरी) के सर्किल अधिकारी उत्‍तम सिंह ने कहा कि पीड़‍ित परिवार की तरफ से 28 अप्रैल को शिकायत दर्ज कराई गई थी. मामले में सात लोगों के खिलाफ एससी/एसटी एक्‍ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. देहरादून एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने कहा कि मामला दूसरे जिले का है. पुलिस रिश्‍तेदारों का सहयोग कर रही है पर हमें ये देखना होगा कि शहर में कोई अनहोनी न हो.

ये भी पढ़ें

बिहार में मनचलों की शर्मनाक हरकत, पहले छेड़ा फिर पीटा भी, Video Viral

पीटने वाली भीड़ जय श्रीराम के लगा रही थी नारे, लिंचिंग पीड़ितों का बयान

झारखंड में गौ हत्या समझ बौखलाई भीड़ ने एक को पीट-पीटकर मार डाला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *