क्लास में लेक्चर के दौरान शिक्षक मोबाइल रखें या नहीं, उत्तराखंड सरकार कराएगी ओपिनियन पोल

उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने कहा है कि अगर 51 फीसदी या इससे ज्यादा छात्र सहमत होते हैं कि क्लास में फोन नहीं ले जाना चाहिए तो सरकार कैंपस में फोन रखने की व्यवस्था करेगी.

लेक्चर के दौरान शिक्षकों को मोबाइल फोन रखना है या नहीं, इस बात पर उत्तराखंड में ओपीनियन पोल होने जा रहा है. उत्तराखंड सरकार 15 फरवरी से पूरे प्रदेश के उच्च शिक्षण संस्थानों में छात्रों के बीच ओपीनियन पोल कराने की तैयारी में है.

उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया ‘इस इंटरनेट युग में मोबाइल फोन का इस्तेमाल जरूरी हो गया है और स्टूडेंट्स पढ़ाई में भी इसका इस्तेमाल कर रहे हैं. मैं शिक्षकों और छात्रों के पैरेंट्स से बातचीत करने जा रहा हूं कि क्या लेक्चर के दौरान फोन रखने की इजाजत दी जानी चाहिए?’

रावत ने कहा है कि अगर 51 फीसदी या इससे ज्यादा छात्र सहमत होते हैं कि क्लास में फोन नहीं ले जाना चाहिए तो सरकार कैंपस में फोन रखने की व्यवस्था करेगी. कैंपस में फोन ले जाने पर प्रतिबंध नहीं लगेगा. रावत के मुताबिक अगले महीने राज्य भर के कॉलेजों में होने वाले सेमिनारों में छात्रों की राय ली जाएगी. उत्तराखंड में 10 विश्वविद्यालय और लगभग 280 कॉलेज हैं.

ये भी पढ़ेंः

संसद में मिलेगा सिर्फ ‘वेज’ खाना, IRCTC बंद कर सकती है कैंटीन

सड़क सुरक्षा से समझौता करने वाले अफसरों पर गरम हुए गडकरी, दिखाएंगे बाहर का रास्ता