गर्दन पर लटकी है FATF की तलवार, फिर भी पाकिस्तान आतंकियों से कर रहा VIP जैसा व्यवहार

पाकिस्तान ऐसा दिखाता है कि वो आतंकियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा है, लेकिन असल में वो उन्हें फंड करता है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय समुदाय भी पाकिस्तान के इस पाखंड को लेकर चिंतित है.

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की तलवार लटके होने के बाद भी पाकिस्तान अपने दोहरेपन और नापाक मंसूबों से बाज नहीं आ रहा है. एक बड़े खुलासे में ये पता चला है कि पाकिस्तान अपने देश में मौजूद कई कुख्यात आतंकियों के साथ VIP जैसा व्यवहार कर रहा है. इनमें अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और पाकिस्तान स्थित आतंकी समूह खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स (KZF) का आतंकी रंजीत सिंह नीता भी शामिल है.

पाकिस्तान ऐसा दिखाता है कि वो आतंकियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा है, लेकिन असल में वो उन्हें फंड करता है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय समुदाय भी पाकिस्तान के इस पाखंड को लेकर चिंतित है. इसी के साथ सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान की सरकार 21 खूंखार आतंकियों के साथ VIP जैसा व्यवहार कर रही है, इनमें वो आतंकी भी शामिल हैं जिन्हें पिछले महीने सजा दी गई थी.

भारत ने कई बार किया पाकिस्तान को बेनकाब

न्यूज एजेंसी ANI को मिली लिस्ट के मुताबिक जिन आतंकियों के साथ VIP जैसा सलूक किया जा रहा है, उनमें अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम, वाधवा सिंह, बब्बर खालसा इंटरनेशनल का सरगना, इंडियन मुजाहिद्दीन का प्रमुख, रियाज भटकल, आतंकी मिर्जा शदाब बैग और अभीभ हसन का नाम शामिल है.

इनमें से कई आतंकी भारत में वॉन्टेड हैं और इन्हें पाकिस्तान ने पनाह दी हुई है. भारत ने कई बार पाकिस्तान को बेनकाब किया है, जो आतंकी समूहों को पाल रहा है और उन्हें भारत के खिलाफ जंग के लिए ट्रेनिंग दे रहा है. विशेषज्ञों का मानना है कि पिछले कुछ हफ्तों से पाकिस्तान की सरकार ऐसा भ्रम पैदा कर रही है कि वो आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है, ताकि वो FATF की कार्रवाई से बच जाए.

पाकिस्तान ने 88 आतंकियों पर लगाया था प्रतिबंध

पिछले महीने पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा जारी नई लिस्ट के आधार पर 88 आतंकवादियों और आतंकी संगठनों पर प्रतिबंध लगाए थे. जमात-उद-दावा के हाफिज सईद, जैश-ए-मोहम्मद के मोहम्मद मसूद अजहर और जकिउर रेहमान लखवी और इब्राहिम का नाम इस लिस्ट में था.

पाकिस्तानी मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक सरकार ने आतंकियों से संबंधित बैंक अकाउंट्स और संपत्ति को भी सील कर दिया था और उनके विदेशी दौरों पर भी रोक लगा दी थी. हालांकि पाकिस्तान दावा कर रहा था कि उसने आतंकी समूहों के खिलाफ कार्रवाई की है, लेकिन कार्रवाई की कोई भी जानकारी विस्तार में नहीं दी है.

 

Related Posts