नीरजा भनोट को देश का सलाम! सुनिए उस हिम्मती लड़की की आखिरी वॉयस रिकॉर्डिंग

अपनी जान पर खेलकर लोगों की जान बचाने वाली एयर-अटेंडेंट नीरजा भनोट (Neerja Bhanot) की पुण्यतिथि पर आज पूरा देश उनके इस बलिदान को याद कर रहा है. सोशल मीडिया पर लोग अशोक चक्र से सम्मानित नीरजा की वीरता को सलाम कर रहे हैं
neerja bhanot death anniversary, नीरजा भनोट को देश का सलाम! सुनिए उस हिम्मती लड़की की आखिरी वॉयस रिकॉर्डिंग

अपनी जान पर खेलकर लोगों की जान बचाने वाली एयर-अटेंडेंट नीरजा भनोट की पुण्यतिथि पर आज पूरा देश उनके इस बलिदान को याद कर रहा है. सोशल मीडिया पर लोग अशोक चक्र से सम्मानित नीरजा की वीरता को सलाम कर रहे हैं. नीरजा का जन्म 7 सितंबर, 1963 को चंडीगढ़ में हुआ था और 5 सितंबर, 1986 को एक प्लेन हाइजैक में पैसेंजर्स की जान बचाने के लिए उन्होंने अपनी जान दे दी थी.

नीरजा की पुण्यतिथि के मौके पर लोग उनके द्वारा की गई एक आखिरी फ्लाइट अनाउंसमेंट को भी शेयर कर रहे हैं. ये नीरजा की रिकॉर्ड हुई आखिरी आवाज की क्लिपिंग है, जिसे उनके जीवन पर बनीं फिल्म के मेकर्स ने रिलीज किया था.

नीरजा देश की हर एक बेटी के लिए मिसाल हैं. छोटी सी उम्र में ही उन्होंने बड़ा नाम बनाया. पैन एम में जुड़ने से पहले उन्होंने मॉडलिंग भी की और वीको, गोदरेज डिटर्जेंट, वैपरेक्स और बिनाका टूथपेस्ट जैसे कई प्रोडक्ट्स के ऐड भी किए.

कब और क्या हुआ था

5 सितंबर को पैन एम फ्लाइट 73 मुंबई से न्यूयॉर्क जा रही थी. प्लेन में करीब 350 यात्री और 19 क्रू मेंबर्स सवार थे. जब प्लेन कराची एयरपोर्ट पर लैंड किया तो आतंकियों ने उसे हाइजैक कर लिया और प्लेन में सवार सभी लोगों को बंधक बना लिया. सीनियर फ्लाइट अटेंडेंट नीरजा ने हाइजैक की बात पायलट को बताई, तो वो कॉकपिट से सुरक्षित निकल गए. इसके बाद यात्रियों और क्रू मेंबर्स की सुरक्षा की जिम्मेदारी नीरजा पर थी.

17 घंटे तक नीरजा ने हथियारों से लैस लोगों को बचाए रखने का प्रयास किया. लेकिन इसके बाद आतंकियों ने लोगों को मारना शुरू कर दिया. यहां तक की प्लेन में बम भी लगा दिया. नीरजा बहादुरी दिखाते हुए इमरजेंसी डोर खोल दिया और यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकलने में मदद की. आतंकियों ने लोगों को निकलते देख उनपर गोली चलाने की कोशिश की. लेकिन नीरजा ने ऐसा नहीं होने दिया और वो सीधे आतंकियों से भिड़ गईं. आतंकियों को रोकने की इसी कोशिश में उन्होंने अपनी जान गंवा दी.

Related Posts